योगी सरकार नवरात्र में 24 को करेगी ‘शक्ति महोत्सव’, नवदुर्गा की 9 रुपों पर होगी प्रतियोगिता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा नवरात्र के अवसर पर 24 अक्टूबर को राज्य के 11 प्रमुख देवी मंदिरों में ‘शक्ति महोत्सव’ का आयोजन करेगा। इस दौरान लोक कलाकारों द्वारा परंपरा पर आधारित देवी गायन और लोकनृत्य का प्रदर्शन करेंगे।

navratri

इसके अलावा संस्कृति विभाग ने नवरात्र की शुभ तिथियों पर विभिन्न धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में महिलाओं एवं बालिकाओं की सहभागिता तथा सुरक्षा को लेकर एक विशेष अभियान चलाने का भी निर्णय किया है।

प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी कहा कि 24 अक्टूबर को ‘शक्ति महोत्सव’ के आयोजन 11 शक्ति पीठों पर होंगे, जिनमें मीरजापुर में विन्ध्याचल स्थित मां विन्ध्यवासिनी शक्ति पीठ, बलरामपुर में देवीपाटन तुलसीपुर स्थित मां पाटेश्वरी मंदिर, झांसी में काली माता मंदिर, मथुरा वृंदावन में मां कात्यायनी शक्ति पीठ, प्रयागराज स्थित मां अलोपी देवी शक्ति पीठ, नेमिषारण्य में प्रभा स्थली नैमिष धाम, गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर, जौनपुर जिले में मां शीतला चैकिया धाम, सहारनपुर में देवबंद मां त्रिपुरबाला सुन्दरी शक्ति पीठ, वाराणसी स्थित दुर्गा मंदिर और कौशाम्बी जिले में कड़ा धाम शामिल है। मंत्री ने बताया कि शक्ति महोत्सव के लिए लोक कलाकारों के दलों का निर्धारण भी कर दिया गया है।

महिलाओं की सहभागिता व सुरक्षा के लिए विशेष अभियान

संस्कृति मंत्री ने बताया कि नवरात्र के दौरान शुभ तिथियों पर विभिन्न धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में महिलाओं एवं बालिकाओं की सहभागिता तथा सुरक्षा को लेकर एक विशेष अभियान चलाने का भी निर्णय किया गया है। इसके तहत उप्र राजकीय अभिलेखागार की तरफ से महिला उत्थान विषयक अभिलेख प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी। वहीं राज्य ललित कला अकादमी द्वारा इस अवसर पर महिला सशक्तिकरण को लेकर चित्रकला, वाल पेटिंग और अन्य प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी।

नवदुर्गा की नौ छबियों की होगी प्रतियोगिता

उन्होंने बताया कि राज्य ललित कला अकादमी द्वारा ही आनलाइन प्रतियोगिता के माध्यम से नवदुर्गा की नौ छबियों की भी प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। वहीं संस्कृति निदेशालय इस दौरान कन्या पूजन जैसी समृद्धशाली परंपरा के कार्यक्रम का आयोजन करेगा।

प्रतिदिन होगी देवी गीतों की प्रतियोगिता

इसके अलावा उप्र संगीत नाटक अकादमी के द्वारा नवरात्र के दौरान प्रतिदिन देवी गीतों की प्रतियोगिताएं आयोजित करेगा। जैन विद्या शोध संस्थान शक्ति आराधना पर वेबिनार, कत्थक संस्थान द्वारा नृत्य नाटिकाएं, भारतेन्दु नाट्य अकादमी द्वारा नुक्कड़ नाटक और उप्र संग्रहालय निदेशालय के माध्यम से प्रदेश के सभी संग्रहालयों में इस दौरान शाक्त परंपरा पर आधारित चित्र और मूर्ति कलाओं की प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी। इन कार्यक्रमों को सोशल मीडिया के माध्यम से भी प्रसारित किया जाएगा। 

Related Articles

Back to top button
E-Paper