कथित धर्मपरिवर्तन मामले में 2 में से 1 लड़की वापास आई, एक ने मांगी सुरक्षा

जम्मू कश्मीर दो सिख लड़कियों का कथित जबरन धर्मपरिवर्तन का मुद्दा गरमाया हुआ है। वहीं 2 में से एक 18 साल की लड़की मनमीत कौर श्रीनगर की थी, जिसे कोर्ट ने परिवार वालों को सौंप दिया था। अब 18 साल की मनमीत कौर के परिवार वालों ने उसकी शादी सिख समुदाय के सुखबीर सिंह से करा दी है। जो कि श्रीनगर में ही एक अपना छोटा सा बिजनेस चलाता है। 

सिख समुदाय द्वारा गुरुदारा Chatti Padshahi में एक बेहद साधे कार्यक्रम में लड़की की शादी कर दी गई। लड़की की शादी एक स्थानीय निवासी से ही की गई है। सिख समुदाय ने आरोप लगाया था कि इस लड़की को शाहिद नजीर अहमद नाम के एक लोकल ने अगवा कर उसका धर्म परिवर्तन करवा दिया था। सिख समुदाय के हंगामे के बाद शाहिद नजीर अहमद को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि लड़की के परिवार का दावा है कि उसकी शादी नहीं हुई थी।

वहीं शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के एक नेता ने आरोप लगाया कि हाल में कश्मीर में चार सिख महिलाओं का जबरन विवाह कराया गया और उन्हें इस्लाम धर्म कबूल करवाया गया। उन्होंने महिलाओं को उनके परिवार को सौंपने और जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ एक कानून की मांग की। 

उधर जम्मू-कश्मीर में कथित रूप से जबरन धर्म परिवर्तन का शिकार हुई चार में से एक सिख युवती ने हाई कोर्ट से सुरक्षा की मांग की है। युवती ने कहा है कि उसने अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन करके मुसलमान व्यक्ति से निकाह किया है। इस साल 20 जनवरी को इस्लामिक रीति-रिवाज से मंजूर अहमद भट से निकाह करके वीरन पाल कौर से खदीजा बनी युवती ने इस साल मई में जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper