महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ में स्थिति चिंताजनक- स्वास्थ्य मंत्रालय

देश के 10 जिलों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इन जिलों में सात जिले महाराष्ट्र, एक-एक जिला पंजाब, दिल्ली, और छत्तीसगढ़ से शामिल है। मंगलवार को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मौजूदा समय में महाराष्ट्र, पंजाब औऱ छत्तीसगढ़ के हालात चिंताजनक है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि महाराष्ट्र में स्थिति खराब होती जा रही है।

यहां फरवरी के दूसरे हफ्ते में रोजाना करीब 3000 नए मामले आते थे, अब मौजूदा समय में यह बढ़ कर 44 हजार प्रतिदिन आने लगे हैं। यह आंकड़ा पूरे देश में आने वाले कोरोना के मामलों का 58 प्रतिशत है। वहीं, मौत की संख्या भी पिछले दो महीनों में 32 से बढ़ कर 250 प्रतिदिन हो गए हैं। यह देश में हो रही कुल मौत का 34 प्रतिशत है। महाराष्ट्र में पॉजिटिविटी दर भी 24 प्रतिशत हो गया है।

उन्होंने बताया कि छत्तीगढ़ में भी पिछले दिनों कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। यहां 6 प्रतिशत नए मामले रिपोर्ट किए जा रहे हैं और 3 प्रतिशत मौत हो रही हैं। वहीं, पंजाब में पॉजिटिविटी दर 8.8 प्रतिशत है और यहां देश के औसतन मौत का 4.5 मौत हो रही है। संतोष की बात है कि यहां 76 प्रतिशत आरटीपीसीआर टेस्ट किया जा रहा है। दिल्ली, हरियाणा तमिलानाडु में भी मामले तेजी से बढ़े हैं।

महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीगढ़ में भेजी गई विशेषज्ञों की 50 टीमें

राजेश भूषण ने बताया कि महाराष्ट्र के 30, छत्तीसगढ़ के 11 और पंजाब के 9 जिलों में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विशेषज्ञों की 50 टीमें रवाना कर दी हैं। प्रत्येक टीम में दो सदस्य हैं। यह टीमें इन जिलों के प्रशासन के साथ स्थिति की समीक्षा कर उन्हें सुझाव देगी।

24 घंटे में 43 लाख से अधिक लोगों को दिया गया टीका

स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना से बचाव के लिए 43 लाख लोगों को टीका दिया गया है जो एक रिकॉर्ड है। अबतक देश में 8.31 करोड़ लोगों को टीका दिया जा चुका है। इनमें 5.35 करोड़ टीका 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगाया जा चुका है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper