सोनभद्र: हाथी ने ली 10 साल की एक मासूम की जान, परिवार में मचा कोहराम

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में लगभग 15 हाथियों के झुंड ने कहर बरपाया और 10 साल की एक बच्ची को कुचलकर मार डाला। हाथियों ने नेमना गांव में मकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

ग्रामीणों के अनुसार, खेतों में धान की फसलों को नुकसान पहुंचाकर हाथियों ने जगजीवन राम के घर की दीवार तोड़ दी और मकई और धान से भरे बोरे फेंकने शुरू कर दिए। बाद में, उन्होंने वही मक्का और धान खाया।

राम का परिवार और अन्य ग्रामीण सुरक्षित आश्रय के लिए इधर-उधर भागने लगे। अराजकता के दौरान, जगजीवन राम की बेटी सुनैना को हाथियों ने कुचल दिया। वन अधिकारियों ने सोमवार को झुंड को छत्तीसगढ़ के अभयारण्य क्षेत्र में वापस भेजने की कोशिश की। एक पखवाड़े में पड़ोसी राज्य से हाथी के झुंडों के धावा बोलने की यह दूसरी घटना है।

रेणुकूट के प्रभागीय वनाधिकारी एम.पी. सिंह ने कहा, “यह लगभग 15 हाथियों का एक झुंड था, जिसने आधी रात के बाद बीजापुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले जारहा वन क्षेत्र में गांव पर हमला किया था। इस हमले का सबसे दुर्भाग्यपूर्ण पहलू एक नाबालिग लड़की की मौत रही।”

पोस्टमार्टम के बाद लड़की के शव को उसके परिवार को सौंप दिया गया और प्राकृतिक आपदा योजना के तहत उसके परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

पुलिस के अलावा रेंजर मोहम्मद जहीर मिर्जा की अगुवाई में वन अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम इलाके में डेरा डाले हुए है। मिर्जा ने कहा कि उनकी टीम हाथियों द्वारा एक और हमले की संभावना को देखते हुए क्षेत्र की निगरानी कर रही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper