बेटे का उम्मीदवार जीत गया, तो दादा ने चूल्हे की आग में फेंक दिए तीन पोते-पोती

धौलपुर। जिले के गढ़ी लज्जा में शनिवार देर शाम पिछले दिनों हुए पंचायत चुनाव में वोट डालने को लेकर एक बाप-बेटे के बीच विवाद होने पर गुस्से से तिलमिलाए दादा ने अपने तीन पोते और पोती को पास ही जल रहे चूल्हे की आग में फेंक दिया। इससे तीनों मासूम बच्चे बुरी तरह झुलस गए। तीनों को परिजन उपचार के लिए सैपऊ सीएचसी ले जाया गया, जहां उन्हें प्राथमिक उपचार देकर गंभीर हालत में धौलपुर जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। बाप-बेट के बीच विवाद के समय तीनों मासूम जलते चूल्हे के पास ही बैठकर खाना खा रहे थे।

चूल्हे

कुछ दिनों पहले ग्राम पंचायत के सरपंच का चुनाव हुआ था। इस चुनाव में पिता भोगीराम कुशवाह और बेटे शिवसिंह ने अलग-अलग प्रत्याशियों को वोट दिए थे। चुनाव का परिणाम आने के बाद से ही पिता-पुत्र में आए दिन विवाद होता रहता था। शनिवार शाम को पिता भोगीराम शराब पीकर घर आया था। घर में उसने अपने पुत्र शिवसिंह से वोट डालने को लेकर विवाद करना शुरू कर दिया। यही नहीं भोगीराम ने शिवसिंह के साथ मारपीट भी कर दी। इस दौरान पास ही चूल्हा जल रहा था, जिसके पास शिवसिंह के तीन बच्चे 9 वर्षीय बेटी राखी तथा दो बेटे अजय और विजय खाना खा रहे थे। विवाद के चलते भेागीराम को इतना अधिक गुस्सा आ गया कि उसने चूल्हे के पास खाना खा रहे तीनों मासूम बच्चों को चूल्हे की आग में धकेल दिया। शिवसिंह और अन्य परिजन कुछ समझ पाते, इससे पहले ही जलते चूल्हे में गिरने से तीनों बच्चे बुरी तरह झुलस गए।

चूल्हे की आग में बच्चों के झुलसने पर घर में अफरा-तफरी और चीख-पुकार मच गई। झुलसने से घायल हुए बच्चों और परिजनों की चीख सुनकर आसपास रहने वाले ग्रामीण भी वहां पहुंच गए। परिजन तीनों झुलसे बच्चों को उपचार के लिए गांव से सैंपऊ सीएचसी ले गए, जहां उनका उपचार शुरू किया गया। बाद में बच्चों का उपचार कर रहे डॉक्टर ने तीनों की हालत गंभीर देखी तो उन्हें जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper