स्टार्टअप नीति-2020: लखनऊ में होगी देश के सबसे बड़े इनक्यूबेटर की स्थापना

स्टार्टअप नीति

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी उद्योगों के लिए इनक्यूबेटर्स एवं स्टार्टअप इकाइयों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से घोषित उत्तर प्रदेश स्टार्टअप नीति— 2020 के अन्तर्गत प्रदेश में कम से कम 10,000 स्टार्ट अप की स्थापना के लिए अनुकूल इकोसिस्टम तैयार किया जा रहा है।

नई स्टार्टअप नीति के तहत प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश के सबसे बड़े इनक्यूबेटर की स्थापना सहित प्रदेश में कम से कम 100 इनक्यूबेटर तथा प्रत्येक जनपद में कम से कम एक इनक्यूबेटर स्थापित किए जाने का लक्ष्य रखा गया है।

अपर मुख्य सचिव आईटीआई एवं इलेक्ट्रॉनिक्स आलोक कुमार ने बताया कि प्रदेश में स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा देने तथा उद्यमिता को प्रोत्साहन के लिए 18 इन्क्यूबेटर्स प्रदेश सरकार द्वारा मंजूरी मिलने के बाद कार्यरत हो गये हैं। वर्तमान में प्रदेश में 2,850 से अधिक स्टार्टअप इकाइयां कार्यरत हैं तथा इनकी संख्या में निरन्तर वृद्धि हो रही है। प्रदेश के सभी मण्डलों में इन्क्यूबेटर्स की स्थापना प्रस्तावित हैं।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि सरकार द्वारा स्टार्ट-अप इकाइयों के वित्तपोषण के लिए 1,000 करोड़ रुपये के स्टार्ट-अप फण्ड की स्थापना की गयी है। प्रदेश में स्थापित होने वाले स्टार्टअप्स को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए 15 करोड़ की प्रथम किश्त की धनराशि का चेक भी मुख्यमंत्री द्वारा अध्यक्ष-सह-प्रबन्धक, सिडबी को विगत 20 मई को उपलब्ध कराया जा चुका है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper