उप्र: योगी सरकार के मंत्री का बड़ा बयान, ‘आप’ की हरकत और भाषा दोनों गलत

हरकत और भाषा

लखनऊ: आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती के ऊपर रायबरेली में स्याही फेंके जाने के मामले में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि आम आदमी पार्टी की हरकत और भाषा दोनों गलत है। उन्होंने कहा कि आप नेता अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। 

यूपी: कुख्यात शूटर गिरधारी गिरफ्तार, नितेश और अजीत की हत्या में था शामिल

कहा, सोमनाथ भारती के मुख्यमंत्री के लिए प्रयोग शब्द सभ्य समाज-लोकतंत्र में कतई स्वीकार्य नहीं

सुरेश खन्ना ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए, क्योंकि इसके पहले भी इस पार्टी के नेता इस तरह की हरकत करते आए हैं। उन्होंने कहा कि गाली गलौच, अभद्र भाषा और अराजकता आम आदमी पार्टी की पहचान बन चुकी है। सोमनाथ भारती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए जिन शब्दों का प्रयोग किया, वह सभ्य समाज और लोकतंत्र में कतई स्वीकार्य नहीं है।

वहीं विवादित टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तार किए गए दिल्ली के पूर्व मंत्री व आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती को सोमवार शाम अमेठी जिले की पुलिस ने रिमांड के लिए सीजेएम कोर्ट में पेश किया। जनप्रतिनिधि से मामला जुड़ा होने के कारण पुलिस सीजेएम कोर्ट से पूर्व मंत्री का रिमांड नहीं करा पाई।

इसके बाद पुलिस ने पूर्व मंत्री को स्पेशल जज एमपी—एमएलए पीके जयंत की अदालत में पेश किया। कोर्ट में बचाव पक्ष के अधिवक्ता संतोष पांडेय ने पूर्व मंत्री की जमानत अर्जी पेश करते हुए उन्हें फर्जी केस में फंसाए जाने का आरोप लगाया और उन्हें जमानत पर रिहा करने की मांग की। अभियोजन की ओर से जमानत अर्जी का विरोध किया गया।

न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद देर शाम पूर्व मंत्री की क्रिमिनल हिस्ट्री व जमानत अर्जी पर पुलिस से रिपोर्ट तलब करते हुए सुनवाई के लिए 13 जनवरी की तिथि नियत की है। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने पूर्व मंत्री को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

उल्लेखनीय है कि सोमनाथ भारती ने अमेठी में विवादित बयान दिया था जिस पर कार्रवाई की गई है। उन्होंने दो दिन पूर्व जगदीशपुर में बयान दिया था कि यूपी के अस्पतालों में बच्चे तो पैदा हो रहे हैं, लेकिन कुत्ते के बच्चे पैदा हो रहे हैं। इसके पहले सोमवार की सुबह ही कुछ उन पर स्याही फेंकी गई।

Related Articles

Back to top button
E-Paper