वार्निंग लिस्‍ट में डाले गए सुनील नरेन, आईपीएल 2020 से किए जा सकते हैं सस्‍पेंड

अबु धाबी। कोलकाता नाईट राइडर्स के अबूझ स्पिनर वेस्ट इंडीज के सुनील नरेन के आईपीएल में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत की गयी है और इसके लिए उन्हें चेतावनी सूची में डाल दिया गया है। एक और शिकायत पर वह आईपीएल से निलंबित भी किए जा सकते हैं।

सुनील नरेन

आईपीएल की तरफ से जारी बयान में बताया गया है कि कोलकाता के अबु धाबी में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ शनिवार को हुए मैच के बाद मैदानी अम्पायरों ने नरेन के संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत की। आईपीएल की संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की नीति के अनुसार नरेन को चेतावनी सूची में रखा जाएगा और उन्हें टूर्नामेंट में गेंदबाजी जारी रखने की अनुमति है लेकिन उनकी इस मामले में एक और शिकायत होने पर उन्हें गेंदबाजी करने से तब तक के लिए निलंबित कर दिया जाएगा जब तक बीसीसीआई की संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन समिति उन्हें क्लीन चिट नहीं दे देती।

नरेन इससे पहले 2014 में भी अपने गेंदबाजी एक्शन को लेकर परेशानी में फंस चुके हैं। उनके खिलाफ 2014 चैंपियंस लीग में रिपोर्ट दर्ज की गयी थी जिसके कारण वह 2015 विश्वकप में नहीं खेल सके थे।

नरेन के गेंदबाजी एक्शन की 2015 आईपीएल के दौरान भी शिकायत की गयी थी और उस साल नवंबर में उन्हें गेंदबाजी करने से निलंबित कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने अप्रैल 2016 में उनके एक्शन को क्लीन चिट दी थी लेकिन उन्हें उसी साल भारत में हुए टी-20 विश्वकप में बाहर रहना पड़ा था। 2018 में पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान भी उनके गेंदबाजी एक्शन की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी।

नरेन ऑफ स्पिनर कार्ल क्रोव के साथ अपने एक्शन को लेकर काम करते रहे हैं। नरेन कोलकाता के साथ 2012 से जुड़े हुए हैं। उन्होंने 2012 में 5.47 की इकोनॉमी रेट से 24 विकेट झटके थे और अपनी टीम को पहला खिताब जिताने में अहम भूमिका निभाई थी।

2013 के सत्र में उन्होंने 5.46 के इकोनॉमी रेट से 22 विकेट लिए थे। इसके बाद 2014 में नरेन ने 6.35 के इकोनॉमी रेट से 21 विकेट झटके और अपनी टीम को दोबारा खिताब जिताने में अहम योगदान दिया।

सुनील नरेन इस सत्र में बल्लेबाजी में काफी संघर्ष कर रहे हैं। उन्होंने पांच पारियों में 8.80 के औसत से मात्र 44 रन बनाए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper