पीएम मोदी की कविता के जवाब में रणदीप सुरजेवाला का शायराना तंज, कही ये बड़ी बात

पीएम मोदी

पीएम मोदी द्वारा राज्यसभा में कविता पाठ कर विपक्ष पर निशाना साधने के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी पीएम मोदी के शायरी पर पलटवार किया है। सुरजेवाला ने कैफ भोपाली की रचना को पढ़ते हुए किसानों पर किए जा रहे अत्याचार को लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लिया।

किसान आंदोलन को लेकर सरकार ने Twitter से 1178 अकाउंट्स ब्लॉक करने को कहा

कांग्रेस महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता सुरजेवाला ने दिल्ली बॉर्डर पर किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए लम्बी बैरिकेडिंग और कीलें लगाने को लेकर सरकार को घेरा। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि आंदोलनकारी किसानों की राह में कीलें बिछाकर मोदी जी राज्यसभा में किसानों से कह रहे हैं कि बात करिए, आंदोलन खत्म करिए।

इसी दौरान सुरजेवाला ने प्रसिद्ध शायर कैफ भोपाली के शेर को ट्वीट किया, ‘ये दाढ़ियाँ, ये तिलकधारियाँ नहीं चलतीं, हमारे अहद में मक्कारियाँ नहीं चलतीं। क़बीले वालों के दिल जोड़िए मेरे सरदार, सरों को काट के सरदारियाँ नहीं चलतीं।’ उन्होंने कहा कि किसानों पर जुल्म करने से सरकार का मान नहीं बढ़ेगा। अगर सरकार को समस्या का समाधान निकालना है तो उसे किसानों से बात करनी चाहिए, उनकी सुननी चाहिए।

कांग्रेस नेता नेता ने कहा कि राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण में सिर्फ लफ्फाजी ही थी। जुमले और बड़ी-बड़ी बातों के अलावा प्रधानमंत्री न तो 75 दिन से आंदोलनरत किसानों के लिए कोई ठोस आश्वासन दे सके और ना ही सीमा में चीन की घुसपैठ पर एक भी शब्द बोले।

पीएम मोदी की कविता पर कांग्रेस का निशाना

पीएम मोदी ने राज्यसभा में एक कविता का भी जिक्र किया। इस कालखंड में महाकवि मैथलीशरण गुप्त को लिखना होता तो मैं कल्पना करता हूं कि वो लिखते, “अवसर तेरे लिए खड़ा है, तू आत्मविश्वास से भरा पड़ा है। हर बाधा, हर बंदिश को तोड़। अरे भारत! आत्मनिर्भरता के पथ पर दौड़।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper