उत्तर प्रदेश में लांच हुई स्वच्छ ग्रामीण योजना, लाभान्वित होंगे गांव

उत्तर प्रदेश में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण की राज्य स्तरीय लॉन्चिंग राज कुमार, मिशन निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) उत्तर प्रदेश द्वारा राज्य के समस्त जनपदों के जिला कन्सल्टेंट्स की उपस्थिति में आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला के दौरान दीप प्रज्वलित कर किया गया।

उत्तर प्रदेश में लांच हुई स्वच्छ ग्रामीण योजना, लाभान्वित होंगे गांव

स्वच्छता सुनिश्चित करना ही लक्ष्य

लॉन्चिंग के अवसर पर मिशन निदेशक राज कुमार ने कहा कि सर्वेक्षण के परिणामों में उत्तर प्रदेश के तमाम जिले श्रेष्ठ रैकिंग प्राप्त करें, इसके लिये आवश्यक है कि गांव में स्वच्छता सुविधाओं का निर्माण होने के साथ-साथ उनका उपयोग भी सुनिश्चित किया जाये। योगेन्द्र कटियार, नोडल आफिसर, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) द्वारा कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा गया कि शौचालय निर्माण उसके उपयोग के साथ-साथ ठोस एंव तरल अपशिष्ट प्रबन्धन हेतु गांव में कम्पोस्ट गड्ढों एवं सोख्ता गड्ढों का निर्माण सर्वेक्षण से पूर्व प्रत्येक दशा में किये जाने से प्रदेश की स्थिति सर्वेक्षण के परिणामों में बेहतर होगी।

25 अक्टूबर से शुरू होगी कार्यप्रणाली

डॉ अनूप त्रिपाठी, सीनियर कन्सल्टेंट, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण के विभिन्न पैरामीट्रस एवं निर्धारित पैरामीट्रस पर अंक प्राप्त करने के सम्बन्ध में विस्तार पूर्वक बताया. सर्वेक्षण का कार्य करने हेतु चयनित संस्था इपसोस प्रा.लि., नई दिल्ली के प्रतिनिधि श्रीकान्त एवं सुश्री मृदुला कुमारी ने अवगत कराया कि सर्वेक्षण का कार्य 25 अक्टूबर से प्रारम्भ किया जाएगा। सर्वेक्षण से पूर्व सर्वेक्षण के सम्बन्ध में ग्रामीणों को जागरूक किया जाना अत्यन्त आवश्यक है.

कई जनपदों और मंडलों ने लिया भाग

राज्य स्तरीय कार्यशाला में प्रदेश के सभी जनपदों एवं मण्डलों से लगभग 200 कन्सल्टेंट्स ने प्रतिभाग किया जबकि कार्यक्रम में स्टेट कन्सल्टेंट्स जितेन्द्र प्रताप सिंह, महिम कुमार, मो. तारिक, मनोज शुक्ला, ओपी मणि त्रिपाठी, अक्षय पटेल एवं श्रीमती तुहिना राय ने प्रतिभाग किया। कार्यशाला का संचालन संजय सिंह चैहान, स्टेट कन्सल्टेंट, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा0) ने किया। इसके तहत बहुत सरे ग्रामीण लाभान्वित होंगे.

Related Articles

Back to top button
E-Paper