तेजस्वी यादव पहली कैबिनेट में ही तमंचा खरीदने का देंगे ऑर्डर : फडणवीस

फडणवीस

पटना। बीजेपी के बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर जमकर हमला बोला। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बिहार में एनडीए शासन के 15 साल और उसके पहले जो बिहार के 15 साल थे वो सुधारने में चला गया। उन्होंने कहा कि वह 10 लाख लोगों को रोजगार देंगे, लेकिन तेजस्वी 10 लाख तमंचे खरीदकर गुर्गों और मुर्गों में बांटेंगे और फिर वही लूट और भ्रष्टाचार वाला बिहार बनाएंगे। मगर अब ये वो बिहार नहीं, बल्कि ये देश के विकास में भाग लेने वाला बिहार हमलोग बना रहे हैं।

ये भी पढ़ें- सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में CBI ने दिया ये बड़ा बयान

सोमवार को बिहार भाजपा प्रदेश कार्यालय में आईटी एवं सोशल मीडिया की एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री व बिहार के सह प्रभारी देवेंद्र फडणवीस और बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय मौजूद थे।

इस मौके पर फडणवीस ने आईटी की विशेषता और इसके सदुपयोग पर चर्चा की। वर्चुअल रैलियों को बूथ स्तर तक पहुंचाने का भी अहवान किया। कहा, चूंकि कोरोना काल में इस बार बिहार में चुनाव में हो रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग सहित सभी मानकों को पूरा करने के कारण इस बार वर्चुअल रैली ही अधिक होगी। ऐसे में ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, वाट्सएप ग्रुप की भूमिका बढ़ जाएगी।

ये भी पढ़ें- लोन मोरेटोरियम केस : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दिया 5 अक्‍टूबर तक का समय

कार्यक्रम की अध्यक्षता बिहार प्रदेश आईटी एवं सोशल मीडिया संयोजक मनन कृष्ण ने की। मंच संचालन सोमेश पाण्डेय ने किया। साथ ही कार्यक्रम में मंचासीन अतिथियों में प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश वर्मा, प्रदेश सह संयोजक रितेश रंजन, शुभम राज सिंह, अनमोल शोभित, रवि सिंह, मुख्यालय प्रभारी मुकुल सिंह, तकनीकी विशेषज्ञ नवीन, विकास, मृत्युंजय, शुभम, अरुण आदि उपस्थित थे।

बिहार चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा सोशल मीडिया

देवेंद्र फडणवीस ने सोशल मीडिया कार्यकर्ताओं से कहा कि आगामी चुनाव में सोशल मीडिया सबसे अहम भूमिका निभाने वाला है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया के माध्यम से आमजन को आकर्षित करने के तरीकों पर ध्यान देने की विशेष जरूरत है। साथ ही विशेष तौर पर वर्चुअल रैलियों को बुथ स्तर तक पहुंचाने का अह्वान किया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper