तेंदुए के हमले से दस वर्षीय बालक की मौत, ग्रामीणों ने किया आग के हवाले

मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के वन विकास निगम अंतर्गत आने वाले परिक्षेत्र उगली में आज सुबह तेंदुए के हमले से दस वर्षीय एक बालक की मौत हो गयी। घटना के बाद आदमखोर तेन्दुए को ग्रामीणों ने मार डाला तथा आग के हवाले कर दिया। वन विकास निगम बरघाट प्रोजेक्ट के संभागीय प्रबंधक व्ही सी मेश्राम ने बताया कि वन परिक्षत्र उगली के अतंर्गत आने वाले ग्राम सकरी से घोरनाटोला रोड पर सुबह कुछ बच्चे घूमने गए हुए थे। इस दौरान रमन परते (10) सबसे पीछे रह गया और इस बीच एक तेन्दुए ने बालक हमला कर दिया तथा धसीट कर ले गया। तेन्दुए ने बालक का पिछला हिस्सा भी खा लिया तथा झाडियों के बीच क्षत विक्षित अवस्था में बालक का शव पाया गया।

वन विकास निगम सिवनी के सूत्रों के अनुसार क्षेत्र में लगातार तेन्दुए के हमले से हो रही मौतों से आक्रोशित ग्रामीणों ने सुबह हुई इस घटना के बाद झाडियों के बीच से तेन्दुए को ढूंढकर लाठियों से वारकर मार डाला तथा आग के हवाले कर दिया। घटना स्थल पर वन विभाग के अधिकारियों को भी ग्रामीणों ने घेर लिया तथा ग्रामीणों के आक्रोश को देखकर पुलिस बल भी तैनात किया गया है।

सड़क के अचानक धंस जाने से पलटी बस, सात यात्री घायल

उगली क्षेत्र के अंतर्गत पूर्व में भी तेंदुए के शिकार से तीन महिलाओं की मौते हो चुकी है, जिसके बाद अक्टूबर माह में जंगल में पिंजरे लगा वन अमले ने दो तेंदुए को पकड़ा था। इनमें से एक तेंदुए को वन विहार भोपाल और दूसरे तेंदुए को मुकुंदपुर जू भेजा गया था। जिले के उगली क्षेत्र में 16 अक्टूबर को मवेशी चराने गई 17 वषीय किशाेरी रवीना यादव, 19 अक्टूबर क्षेत्र के ग्राम मोहगांव में धान की फसल काट रही गजराबाई, 15 सितंबर को ग्राम मोहगांव बीट में जलाऊ लकड़ी बीनने गई बैगा जाति की आदिवासी महिला रंजीता की तेंदुए के हमले में मौत हो गई थी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper