छट रहे हैं कोरोना संकट के बादल, वैश्विक अर्थव्यवस्था पहले से बेहतर: आईएमएफ

अंतरराष्ट्रीय डेस्क। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था संकट के दौर से वापस लौट रही है। लेकिन यह आपदा खत्म नहीं हुई है। अभी सभी देश इस चुनौती से जूझ रहे हैं। इसके बावजूद वैश्विक अर्थव्यवस्था करवट ले रही है। आज स्थिति पक्ले से बेहतर है।

 

आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा है कि बीते वसंत में जब 85 प्रतिशत वैश्विक आर्थिक गतिविधियां लाॅकडाउन में थीं, तब विश्व इकाॅनमी को कोरोना ‘ग्रहण’ लग गया था। उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह आईएमएफ की बैठकों में गरीब देशों के ऋण से निपटने और अमीर देशों को कर्ज देने की बजाय गरीब देशों को अधिकाधिक अनुदान के रूप में सहायता उपलब्ध कराने पर विचार होगा।

क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा कि इन बैठकों में कोरोना संक्रमण से जूझ रहे देशों की विभिन्न समस्याओं पर आईएमएफ की सहायक सचिव सबीना भाटिया, प्रज्ञान देव और गुगुल सीईओ सुंदर पिछई सहित अनेक देशों के वक़्ता भाग लेंगे। जोर्जिवा ने आईएमएफ बैठकों से पूर्व आर्थिक स्थिति की समीक्षा करते हुए मंगलवार को इस बात पर ज़ोर दिया कि आईएमएफ अपना अद्यतन आर्थिक दृष्टिकोण जारी रखेगी। उनका कहना था, ‘हालांकि, कुछ सुधार हुए हैं पर नकारात्मक जोखिम बना हुआ है।

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper