ज्योतिरादित्य सिंधिया का भाषण सुनने आया था किसान, कुर्सी पर बैठे-बैठे ही हो गई मौत

भोपाल। मध्य प्रदेश के उपचुनाव में तमाम सियासी पार्टियां ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रही हैं। इसी कड़ी में  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी लगातार प्रचार कर रहे हैं। लेकिन रविवार को मध्य प्रदेश के खंडवा के मूंदी में बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की सभा में एक हादसा हो गया।

ज्योतिरादित्य सिंधिया

दरअसल सिंधिया की सभा में भाषण सुनने आए एक बुजुर्ग किसान की मौत हो गई। बताया जा रहा है सभा में भाषण सुनने आया किसान पीछे की कुर्सी पर बैठा था और बैठे-बैठे ही उसने प्राण त्याग दिए। लोगों को किसान के बारे में जैसे ही जनकारी मिली आनन-फानन में उसे अस्पताल लाया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी। डॉक्टरों के मुताबित किसान की मौत हार्ट अटैक से हुई थी, वहीं बुजुर्ग किसान की मौत की सूचना जब ज्योतिरादित्य सिंधिया को लगी तो उन्होंने 2 मिनट मौन रखकर किसान को श्रद्धांजलि दी।

इस मामले को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि किसान की मौत के बाद भी भाजपा नेता मंच से भाषण देते रहे और उनका कोई भी नेता उस किसान के सम्मान में मंच से नीचे नहीं उतरा। मूंदी पुलिस थाना प्रभारी अंतिम पवार ने कहा कि ग्राम चांदपुर निवासी 70 वर्षीय किसान जीवन सिंह मूंदी में रविवार को आयोजित आमसभा में आया था। उसकी तबियत अचानक बिगड़ी और वह कुर्सी पर गिर गया।

खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा सीट के उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवार नारायण पटेल के समर्थन में यह जनसभा आयोजित की गई थी।

उन्होंने कहा कि उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पवार ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि किसान की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई। वहीं, प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जब किसान ने दम तोड़ा, उस वक्त स्थानीय नेता भाषण दे रहे थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper