किसानों के विरुद्ध अन्याय के खिलाफ पूरा देश एकजुट: प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी

लखनऊ। किसान बिल संसद के दोनों सदनों से पास हो गया लेकिन सियासत अभी थमी नहीं है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर संसद में पारित काले कृषि कानून के खिलाफ सोशल मीडिया पर #स्पीकअपफॉरफारमर्स अभियान चलाकर प्रदेश और देश के किसानों के हक में आवाज़ बुलंद की गयी। आज इस अभियान के तहत प्रदेश में 12 हज़ार से अधिक लोगों ने भागीदारी की, जिसमे कांग्रेसजन के अलावा बड़े पैमाने पर समाज के अलग अलग हिस्से के लोगों ने खुलकर भागीदारी करके देश के अन्नदाता के पक्ष में आवाज़ उठाई।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पूरे देश के किसान एकजुट होकर नए कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। बिलों में एमएसपी का प्रावधान न होना, कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग और मंडी व्यवस्था का  खात्मा किसानों की मेहनत पर कुल्हाड़ी चलाने जैसा है। इस अन्याय के विरूद्ध आज सारा भारत एकजुट है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया प्रभारी मोहित पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर आज विधानसभा से लेकर ब्लाक स्तर के कांग्रेसजन के साथ समाज के अन्य हिस्सों से जुड़े प्रबुद्ध लोगों जिसमे साहित्यकार, रंगकर्मी, ट्रेड यूनियन के लोगों के साथ बड़े पैमाने पर छात्र- नौजवानों ने तीनों काले कृषि कानून के खिलाफ आवाज़ उठाते हुए देश के अन्नदाता के पक्ष में साथ खड़े होकर उनकी लड़ाई को मजबूती प्रदान की।

सोशल मीडिया चेयरमैन मोहित पाण्डेय ने बताया कि सोशल मीडिया पर आज इस अभियान के तहत 12 हज़ार से ज्यादा लोगों ने भागीदारी कर किसानो की लड़ाई में अपना सहयोग प्रदान किया। उन्होंने कहा कि अलोकतांत्रिक तरीके से थोपे गए नए कृषि कानून अन्नदाता के पीठ में छुरा घोपने जैसा कृत्य है। आम आदमी किसानों की इस लड़ाई में उनके साथ है ।

Related Articles

Back to top button
E-Paper