ट्रोइका प्लस सम्मेलन में तालिबान सरकार पर पड़ सकता है दबाव

इस्लामाबाद. रूस और अमेरिका के शीर्ष राजनयिक गुरुवार को आयोजित हो रहे ट्रोइका प्लस बैठक के दौरान तालिबान सरकार पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को किए गए वादों को पूरा करने के लिए दबाव बना सकते हैं।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया कि यह पहली बार होगा जब चार देशों के राजनयिक अफगान अंतरिम विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी से एक साथ मुलाकात करेंगे और उन्हें तालिबान सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय समुदाय की उम्मीदों पर खरा उतरने के  लिए किए गए वादों की याद दिलाएंगे।

मुत्ताकी तीन दिवसीय यात्रा के लिए बुधवार को पाकिस्तान पहुंच चुके हैं। यहां वह दोनों देशों के बीच आवाजाही को सुगम बनाने, आर्थिक सहित कई अहम मुद्दों पर विस्तृत बातचीत करेंगे।

अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा सत्ता की कमान संभाले जाने के बाद से अंतरर्राष्ट्रीय समुदाय ने उनके लिए कुछ मानक निर्धारित किए हैं, जिससे उनकी सरकार को मान्यता मिल सके। इन मानकों में समावेशी सरकार, महिलाओं की सुरक्षा एवं मानवाधिकार और आतंकवादी संगठनों को अपने उपयोग के लिए अफगान धरती का उपयोग करने की अनुमति नहीं देना शामिल हैं।

https://vishwavarta.com/un-secretary-general-to-continue-talks-with-us-to-resolve-visa-issues/वीजा मुद्दों को सुलझाने के लिए अमेरिका के साथ बातचीत जारी रखेंगे संयुक्त राष्ट्र महासचिव

एक विदेशी राजनयिक ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक पाकिस्तानी अखबार को बताया कि तालिबान सरकार अब तक शर्तों को पूरा करने में विफल रही है।

ट्रोइका प्लस बैठक की मेजबानी पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी करेंगे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper