विदेश की सड़क से गुजरने का एहसास दिलाएगा यूपी का ये प्वाइंट, एलिवेटेड सड़क बनाने की तैयारी

गोरखपुर दुर्घटना और ट्रैफिक जाम के निदान को एनएचएआई ने कालेसर जीरो प्वाइंट से सहजनवा तक एलिवेटेड सड़क बनाने की तैयारी में है। यह दूरी तकरीबन पांच किलोमीटर लंबाई की होगी। लोगों को अब यहां विदेश की सड़क से गुजरने जैसा एहसास होगा।

एलिवेटेड सड़क

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर से लखनऊ तक जाने वाली सड़क अब सिक्सलेन होने जा रही है। पूर्वांचल की पहली एलिवेटेड सड़क निर्माण से लखनऊ की तरफ जाने वाली गाड़ियों को जाम से नहीं जूझना पड़ेगा। इतना ही नहीं, गीडा और सहजनवा कस्बे में भी जाम की समस्या का स्थाई निदान हो जाएगा। फिलहाल, कालेसर जीरो प्वांइट एक गोलबंर की तरह हो गया है। यहां आईएसबीटी के साथ ही नोएडा की तर्ज पर कामर्शियल गतिविधियों को लेकर भी काम हो रहा है।

बता दें कि यहां से सोनौली, बिहार, वाराणसी, लखनऊ की ओर आने-जाने वाली गाड़ियां गुजरती हैं। ऐसे में यहां कई किलोमीटर तक अक्सर जाम लग जाता है। यही वजह है कि गीडा में दाना-पानी रेस्टोरेंट के साथ तीन अन्य स्थान एनएचएआई के ब्लैक लिस्ट में शामिल हैं। यहां अक्सर दुर्घटनाएं होती हैं। ऐसे में ट्रैफिक पुलिस, गीडा सीईओ और एनएचएआई के अधिकारियों के माथे पर चिंता की लकीरें रहती हैं। यही वजह है कि इन सभी विभागों ने सोच-विचार करने के बाद यह निर्णय लिया है और अब इसे परवान चढ़ाने की योजना पर काम कर रहे हैं।

योजना के मुताबिक पूर्वांचल की पहली एलिवेटेड सड़क सहजनवा कस्बे से गीडा होते हुए कालेसर जीरो प्वाइंट तक ले जाई जाएगी। इसकी लंबाई करीब 05 किलोमीटर की होगी। एनएचएआई के मानकों के मुताबिक, एक किलोमीटर एलिवेटेड सड़क के निर्माण में करीब 100 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। इस तरह पांच किलोमीटर सड़क के निर्माण में करीब 500 करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है।

सिक्सलेन प्रोजेक्ट का होगी हिस्सा

कालेसर से लखनऊ तक फोरलेन सड़क को सिक्स लेन में बदलने के प्रोजेक्ट को पहले ही विभाग की अनुमति मिल गई है। निजी फर्म द्वारा सिक्स लेन को लेकर डीपीआर तैयार की जा रही है। सिक्स लेन के ही प्रोजेक्ट में एलिवेटेड सड़क का प्रस्ताव भी शामिल करने की योजना है।

बोले जिम्मेदार

इस संबंध में गीडा सीईओ पवन अग्रवाल एवं एनएचएआइ के परियोजना निदेशक सीएम द्विवेदी का कहना है कि उद्यमियों ने प्रोजेक्ट में एलिवेटेड सड़क का प्रस्ताव शामिल करने की मांग रखी थी। अब इस पर विचार कर लिया गया है। एलिवेटेड सड़क से दुघर्टना के साथ ही जाम की समस्या से भी निजात मिल जाएगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper