आज़ादी से आज तक इस गांव को नहीं नसीब हुई सड़क, कैद हुआ ग्रामीणों का जीवन

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के ललितपुर में एक ऐसा गांव है जिसे आजादी के बाद से आज तक सड़क ही नसीब नहीं हुई। यहां बदहाली का आलम ये कि लोग उस गाँव में जाना भी पसंद नहीं करते। उत्तर प्रदेश में जहां एक ओर विकास की लहर दौड़ रही है, वहीं दूसरी तरफ यह तस्वीरें प्रशासन की पोल खोल रही है। ये एक ऐसा  गांव है जहां पर कई लोगो की जान सिर्फ इस वजह से चली गई क्यों उनको अस्पताल पहुंचना ही नसीब नहीं हो पाया।

इस गांव के बच्चे सिर्फ इसलिए स्कूल नहीं जा पाते हैं क्योंकि हल्की बारिश भी गांव के रास्ते को तालाब में तब्दील कर देती है। वहीं अगर कोई बीमार अस्पताल तक पहुंचता भी है तो उसके लिए गांव  वालों को कड़ी मेहनत करनी होती है या तो मरीज को ट्रैक्टर पर सवार करके  मुख्य मार्ग तक ले जाया जाए या फिर खटिया पर मरीज़ को लेटा कर मुख्य मार्गो  तक ले जाते हैं।

ये गांव है शाहजहांपुर के ब्लाक जलालाबाद  के मिघौल और अशरफपुरमढ़ा। गाँव आज भी विकास के लिए तरस रहा है । हैरानी  की बात यह की आजादी से आज तक इस गाँव को मुख्य मार्ग से नही जोड़ा गया  और न ही गाँव मे कोई सड़क बनाई गई। गांव वालों का साफ तौर पर कहना है कि  चुनाव के समय तो कई नेता वोट मांगने गाँव में आते हैं और भरोसा दिलाते  हैं कि जल्द ही गाँव को सड़क से जोड़ा जाएगा मगर चुनाव होते ही नेता  और वादे दोनों गायब हो जाते हैं, और गांव का नसीब अपनी बदहाली पर रोता नजर आता है।

गांव में कोई महिला अगर गर्भवती हो जाए तो  उसको भी इलाज के लिए खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, तब उसको इलाज  मिल पाता है। गाँव के लोग साधन और सड़क न होने के कारण गाँव में ही कैद होकर  रह गए है।

इन गांव के बारे में शाहजहांपुर की मुख्य विकास अधिकारी प्रेरणा शर्मा  ने कहा कि  जानकारी में आया है अशरफ पुर गांव है जहां  पर लिंक रोड तो है मगर एक मंजरा है जहाँ पर पुल की समस्या है उसको उन्होंने  खण्ड विकास अधिकारी को आदेशित किया है कि वो उसमे कंप्लीट रिपोर्ट बनाकर  दे। मुख्य विकास अधिकारी ने माना कि अगर कोई मंजर आया गांव  सड़क से कनेक्टेड ना हो तो उसमें काफी समस्याएं आती हैं।

हालांकि प्रशासन इस बात को मानने को तो तैयार है कि इस तरह के गांव और मजरे मौजूद है, मगर इन पर विकास की लहर कब तक आएगी इस बारे में कोई सटीक  जवाब नहीं मिल सका है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper