बाघ की चहलकदमी देख ग्रामीणों के उड़े होश, वन विभाग ने शुरु किया रेस्क्यू

बाघ की चहलकदमी

श्रावस्ती: सोनवा थाना क्षेत्र अंतर्गत उत्तमापुर ग्राम पंचायत के निरहा गांव में मंगलवार की सुबह जंगल से निकल कर बाघ गांव के खेतों में चहलकदमी करता देख ग्रमीणों के होश उड़ गए। इसकी सूचना ग्रामीणों ने तुरंत ही पुलिस और वनविभाग को दी। वनविभाग की टीम ने बाघ का रेस्क्यू ऑफरेशन शुरु कर दिया है।

उप्र: योगी सरकार के मंत्री का बड़ा बयान, ‘आप’ की हरकत और भाषा दोनों गलत

ग्रामीणों के मुताबिक बाघ गांव के उत्तर-पश्चिम कोने की बॉस के झुरमुटों में छिप गया। इस घटना की पुष्टि होने पर जिलाधिकारी कार्यालय ने पत्र जारी कर पुलिस विभाग तथा राजस्व विभाग को निर्देश दिया कि सम्बन्धित थाना क्षेत्र के प्रधानों के जरिये लोगो को इस बात से कराया जाय कि जबतक बाघ को सुरक्षित जंगल न पहुँचा दिया जाय तब तक लोग अलर्ट रहे रात को लोग घर से बाहर न निकले।

पुलिस अधिकारी व वन विभाग के अधिकारियों ने गांव पहुंच कर ग्रामीणों को सुरक्षा का एहसास दिलाते हुए कहा कि वे लोग बाघ निकलने परसम्बन्धित गाइड लाइन का पालन करे।

दिनभर बाघ बाँस के झुरमुट में छिपकर दहाड़ता रहा वन विभाग लगातार उसके मूमेंट पर नजर गड़ाये रहा लेकिन रात बीत जाने के बाद भी बाघ पिंजड़े में नही घुसा जिसपर सुबह होने पर वनकर्मियों ने  बाघ की तलास की तो वह झुरमुटों तथा आसपास नही मिला जिससे उसके अन्यत्र चले जाने की सम्भावना से वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। आस पास के इलाके के ग्रामीणों में किसी अनहोनी को लेकर दहसत का माहौल है। मौके पुर पुलिस और वनकर्मियों समेत राजस्व की टीम भी मौजूद है।

वही  मंगलवार को  बाघ की मोके से अन्यत्र जाने  को लेकर जब प्रभागीय वनाधिकारी श्रावस्ती  से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि उसके पग चिन्हों से पता चलता है कि वह अब्दुल्ला गंज की तरफ मूमेंट कर गया है सम्भवता वह कतर्नियाघाट  की तरफ से आया था और वह वापस उसी दिशा की तरफ बढ़ रहा है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper