पश्चिम बंगाल में उम्मीदवार उतारेगा आरजेडी, तृणमूल को हो सकता है बड़ा नुकसान

आरजेडी

कोलकाता: लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रतिनिधि के तौर पर कुछ दिनों पहले ही पार्टी के महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी और श्याम रजक ने कोलकाता आकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी से मुलाकात की थी। अब आरजेडी ने पश्चिम बंगाल में उम्मीदवार उतारने की तैयारी कर ली है।

श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय, 29 अप्रैल को होगी तेल कलश यात्रा

अपने कोलकाता दौरे के दौरान अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा था कि पार्टी बंगाल में भाजपा को रोकने के लिए विकल्प तलाश रही है। अब राजद ने सत्तारूढ़ दल टीएमसी के खिलाफ कैडिडेट उतारने का ऐलान कर दिया है। राजद के इस फैसले से ममता बनर्जी की चिंता बढ़ सकती है। राजद राज्य में सात सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी। हालांकि अगर वाममोर्चा के साथ गठबंधन हुआ तो एक-दो सीट कम भी हो सकती है। जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव में लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने सात सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करने का फैसला किया है।

राज्य में राजद वाममोर्चा के साथ गठबंधन भी करेगा। प्रदेश राजद की बैठक में इस संबंध में फैसला लिया गया है। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बिंदा प्रसाद ने की। इससे पहले तेजस्वी यादव ने तृणमूल से गठबंधन करने के लिए एक प्रस्ताव भेजा था लेकिन अभिषेक बनर्जी ने उसे नकार दिया था। राजद की बैठक में फैसला लिया गया कि अगर कोई अन्य पार्टी राजद के साथ समझौते को इच्छुक हो तो इसका फैसला केंद्रीय नेतृत्व करेगा। बैठक में नूर अहमद, सुभाष प्रसाद यादव, शमीम रजा, अलगू राय, दिनेश राय व अन्य शामिल थे।

इसमें निर्णय लिया गया है कि राजद ने बंगाल चुनाव के लिए उन सीटों का चयन किया है, जहां बिहारी मतदाता अधिक हैं। पार्टी कोलकाता के बड़ा बाजार, रानीगंज , खड़गपुर और पांडेश्वर से चुनाव लड़ने जा रही है। इसके अलावा भी तीन अन्य जगहों पर पार्टी के कैंडिडेट खड़े होंगे। राजद ने बंगाल चुनाव के लिए श्याम रजक और अब्दुल बारी सिद्दीकी को प्रभारी बनाया है।  

Related Articles

Back to top button
E-Paper