टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने ‘जय श्रीराम’ को बताया राजनीतिक नारा, बोलीं- यह धार्मिक नारा नहीं

कोलकाता अपने बयानों और गतिविधियों की वजह से सुर्खियों में रहने वाली तृणमूल कांग्रेस की सांसद व अभिनेत्री नुसरत जहां ने कहा है कि जय श्रीराम एक राजनीतिक नारा है, यह कोई धार्मिक नारा नहीं है।

नुसरत जहां

एक निजी टीवी चैनल की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में जब जय श्रीराम को लेकर ममता बनर्जी की आपत्ति के बारे में पूछा गया तो तृणमूल सांसद नुसरत जहां ने कहा कि यह कोई धार्मिक नारा नहीं है, बल्कि एक राजनीतिक नारा है।

सउदी अरब ने इन 20 देशों की यात्रा पर लगाया प्रतिबंध, जानिए क्‍या भारत भी है शामिल

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों का विकास न किए जाने से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। हकीकत यह है कि पश्चिम बंगाल में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग इस बात से डरे हुए हैं कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार यहां बनती है तो उनकी उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी।

राजनीति को अपने लिए गेमचेंजर करार देते हुए नुसरत ने कहा कि वह सांसद के तौर पर अमीर और गरीब के बीच की खाई को पाटना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को बड़े पैमाने पर राजनीति से जुड़ना चाहिए।

पश्चिम बंगाल की सभ्यता और संस्कृति का जिक्र करते हुए नुसरत जहां ने कहा कि यहां होने वाली मां दुर्गा की पूजा महिला सशक्तिकरण का प्रतीक है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper