केंद्रीय गृह मंत्री का बंगाल दौरा, शाह के कई कार्यक्रमों को पुलिस ने नहीं दी इजाजत

केंद्रीय गृह मंत्री

कोलकाता: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार रात कोलकाता पहुंच जाएंगे। हालांकि कई कार्यक्रमों को अभीतक पुलिस ने अनुमति नहीं दी है। शनिवार से उनका दो दिवसीय दौरा शुरू होगा।

पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटी भाजपा, स्वतंत्र देव ने कार्यकर्ताओं को दिया जीत का मंत्र

प्रदेश भाजपा सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि अमित शाह अपने दौरे पर तीन हिंदू मंदिरों और मठों का दौरा करेंगे। इनमें से एक है बेलूर मठ, दूसरा मायापुर का इस्कॉन टेंपल और तीसरा ठाकुरनगर का मंदिर। कुल मिलाकर विधानसभा चुनाव से पहले बंगाल में बंगाली संस्कृति और धर्म के प्रति समर्पण दिखाने में भाजपा पीछे नहीं रहना चाहती है। शनिवार सुबह 10:45 बजे नदिया जिले के मायापुर इस्कॉन मंदिर में उनके जाने का कार्यक्रम है। उसके बाद दोपहर 2:40 बजे उत्तर 24 परगना के मतुआ बहुल क्षेत्र ठाकुरनगर में उनकी जनसभा होगी। उसके बाद शाम 6:45 बजे केंद्रीय गृहमंत्री साइंस सिटी के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। उसके बाद भाजपा के सोशल मीडिया कर्मियों के साथ उनकी बैठक है।

दूसरे दिन 31 जनवरी को सुबह 11:30 बजे भारत सेवाश्रम में उनका कार्यक्रम है। उसके बाद ईश्वर चंद्र विद्यासागर के पैतृक आवास पर जाने की योजना भी है। हालांकि यह कार्य कार्यक्रम रद्द भी हो सकता है क्योंकि विद्यासागर का आवास राज्य सरकार के अधीनस्थ है और अभीतक यहां जाने के लिए अमित शाह को राज्य नगरपालिका विभाग ने अनुमति नहीं दी है।

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए 14 मई को अमित शाह कोलकाता में आए थे और रोड शो के दौरान विद्यासागर कॉलेज से उनके काफिले पर हमला हुआ था। कॉलेज परिसर में विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी गई थी, जिसका आरोप ममता बनर्जी भाजपा पर लगाती रही हैं। हालांकि भाजपा दावा करती है कि मूर्ति तृणमूल कार्यकर्ताओं ने तोड़ी थी। इसलिए विद्यासागर के पैतृक आवास पर अमित शाह का दौरा राजनीतिक मायने रखता है।

इसके अलावा 31 जनवरी को ही हावड़ा के डुमुरजुला स्टेडियम में अमित शाह जनसभा करेंगे। यहां 100 फुट लंबा और 65 फुट चौड़ा मंच बनाया गया है। प्रवेश के लिए चार एंट्री गेट रखे गए हैं। खबर है कि इसी मंच पर तृणमूल कांग्रेस के दो मंत्री और कुछ विधायक भी शामिल हो सकते हैं। हावड़ा के बाली से विधायक वैशाली डालमिया के भाजपा में शामिल होने के आसार हैं। तृणमूल कांग्रेस ने कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से उन्हें निष्कासित किया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper