कल महोबा में 3285 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे मोदी

महोबा. महोबा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 19 नवंबर को सिंचाई एवं पेयजल की लगभग 3285 करोड़ रूपये की परियोजनाओं की सौगात देकर बुंदेलखंड के दशकों पुराने जल संकट का समाधान करेंगे।

       पिछले पांच सालों में तीसरी बार महोबा पधार रहे मोदी के स्वागत के लिये बुंदेले पलक पाँवड़े बिछा कर तैयार हैं. भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष जितेंद्र सेंगर ने गुरूवार को कहा कि गैर भाजपा सरकारों की उपेक्षा व प्राकृतिक आपदाओं के झंझावातों में उलझकर साल दर साल बदहाली के शिकार हुए बुंदेलखंड में विकास को नए आयाम देने तथा यहां मूलभूत सुविधाओं की अवस्थापना के लिए संकल्पित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पांच वर्षों में महोबा का तीसरा दौरा है। वर्ष 2016 में उन्होंने पहली बार यहां का दौरा किया था और इस पथरीली बंजर भूमि को जल से संतृप्त करने का बीड़ा उठाया था। बीते समय मे यहां केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा सिंचाई ओर पेयजल की विभिन्न परियोजनाओं को त्वरित ढंग से पूरा कराया गया।

        सेंगर के मुताबिक प्रधानमंत्री द्वारा शुक्रवार को सिंचाई एवम पेयजल की लगभग 3285 करोड़ लागत की महोबा की अर्जुन सहायक व रतोली बांध और ललितपुर जिले की भोनी बांध परियोजना का लोकार्पण किया जाएगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री यहां बुंदेलखंड में पेयजल के लिए ष्हर घर नल से जलष् योजना और हमीरपुर जिले के लिए स्प्रिंकलर सिंचाई योजना के साथ लोक निर्माण विभाग की तमाम अन्य परियोजनाओं का भी लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री के साथ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे।

      हमीरपुर-महोबा के सांसद कुअँर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल ने कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर बुंदेलखंड के निवासियों में जबरदस्त उत्साह का माहौल है। उनकी महोबा में रैली अभूतपूर्व होगी। भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा रैली की सफलता के लिए जोर.शोर से प्रयास किये जा रहे है। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के निर्देशन में कार्यकर्ताओ की टीमें घर-घर जाकर लोगो को पीले चावल देकर रैली में पहुंचने के लिए निमंत्रित कर रही है। भाजपा का प्रयास है कि प्रधानमंत्री मोदी की रैली में महोबा जिले के प्रत्येक परिवार से एक सदस्य की भागीदारी अवश्य हो। चित्रकूटधाम मंडल के चारो जिलों हमीरपुर,बांदा, चित्रकूट ओर महोबा से दो लाख से ऊपर की भीड़ जुटने की संभावना है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper