पश्चिम बंगाल में नहीं थम रही हिंसा, दो भाजपा नेताओं पर फिर हमला,कई घायल

भाजपा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे करीब आ रहा है, हिंसा की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। एकबार फिर राज्य के बीरभूम जिले में भाजपा के दो कार्यकर्ताओं पर हमला किया गया। इनकी पहचान भाजपा के विस्तारक अमित प्रतिहार और बूबाई हाजरा के तौर पर हुई है।

सौरव गांगुली की तबीयत में सुधार, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से की बात

दोनों पर शनिवार रात बीरभूम जिले के सिरसा इलाके में लाठी-डंडे, ईंट-पत्थर और रॉड से हमला किया गया था। इसका आरोप सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं व समर्थकों पर लग रहा है। दोनों को गंभीर हालत में बोलपुर महकमा अस्पताल में भर्ती किया गया है।

रविवार सुबह भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप में इस बारे में जानकारी साझा की गई है। इसमें बताया गया है कि शनिवार रात बीरभूम जिले के इलमबाजार सिरसा इलाके में स्थानीय बूथ अध्यक्ष के घर पार्टी की सांगठनिक बैठक थी। तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने धमकी दी थी कि बैठक करोगे तो मार खाओगे। फिर भी वहां विस्तारक असीम प्रतिहार पहुंचे। पार्टी के अन्य नेता भी वहां पहुंचे थे। बैठक संपन्न हुई जिसके बाद असीम अन्य कार्यकर्ताओं के साथ वापस लौट रहे थे।

उसी समय सिरसा इलाके में तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने उन्हें घेर लिया और लाठी-डंडे, ईंट-पत्थर तथा लोहे की रॉड से मारने लगे। असीम और बूबाई को गंभीर चोटें लगी जबकि अन्य कार्यकर्ता भी घायल हुए हैं। दोनों को स्थानीय इलम बाजार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाया गया जहां हालत बिगड़ने की वजह से बोलपुर महकमा अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

इधर, भारतीय जनता पार्टी के आरोपों को तृणमूल कांग्रेस ने नकार दिया है। तृणमूल के ब्लॉक सभापति शेख तरु ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस हिंसा की राजनीति में विश्वास नहीं करती। आपसी गुटबाजी की वजह से ही भाजपा नेता पर हमला हुआ है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper