उन्नाव पत्रकार हत्या मामले में महिला दारोगा समेत दो पुलिस कर्मी निलम्बित

उन्नाव। ट्रेन की चपेट में आकर हुई पत्रकार सूरज पाण्डेय की मौत के मामले में मृतक की मां की तहरीर पर आरोपित पुलिस कर्मियों को निलम्बित कर दिया गया है। इस पूरे मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने विशेष जांच दल (एसआईटी) टीम को गठित किया है।

जनपद उन्नाव के एबी नगर में रहने वाले पत्रकार सूरज पाण्डेय का शव बीती गुरुवार को रेलवे ट्रैक पर मिला था। दो डॉक्टरों के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम कराया, जिसमें शरीर में छोटी-बड़ी सौ चोटें मिली हैं। वहीं, मृतक की मां लक्ष्मी पाण्डेय की तहरीर पर पुलिस अधीक्षक ने पहले आरोपित महिला दरोगा और महिला थाना एसओ के चालक अमर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया था।

इसके बाद अब दोनों पुलिस कर्मियों को निलम्बित कर दिया गया है। वहीं, इन लोगों के खिलाफ हत्या की साजिश रचने व जान से मारने की धमकी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गयी है। इसमें दो अन्य भी शामिल है।

एसआईटी कर रही जांच

मृतक पत्रकार की मां और पत्रकार संगठनों के दबाव पर घटना की निष्पक्ष जांच के लिए एसपी आनंद कुलकर्णी ने विशेष जांच दल गठित किया है। इसमें सीओ सिटी, एक महिला व दो पुरुष इंस्पेक्टर के साथ सर्विलांस व स्वॉट टीम शामिल है। वहीं, सर्विलांस की जांच में टीम के पास पत्रकार महिला दारोगा के बीच काफी लम्बी बात होने का दावा किया है। घटना वाले दिन भी बात हुई है।

आरोपित दरोगा सिपाही संग फरार

तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपित दरोगा सुनीता चौरसिया व सिपाही अमर सिंह बिना थाना से रवानगी कराए फरार हो गए। जांच टीम के बुलाने के बाद भी दोनों नहीं आए और मोबाइल भी बंद कर लिया। पुलिस की टीमें उनकी तलाश में जुटी हुई है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper