केंद्रीय कैबिनेट का विस्तार, जानिए कौन बना मंत्री, किसकी छिनी कुर्सी

राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह के साथ केंद्रीय कैबिनेट में विस्तार से जुड़ी तमाम अटकलों पर विराम लग गया। बुधवार को अशोक हॉल में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सबसे पहले नारायण राणे ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। इसके बाद असम के पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल, डॉ. वीरेंद्र कुमार ने शपथ ली।

शपथ लेने वाले अन्य मंत्रियों में ज्योतिरादित्य सिंधिया, रामचंद्र प्रसाद सिंह, अश्विनी वैष्णव, पशुपति कुमार पारस, किरण रिजिजू, राज कुमार सिंह, हरदीप सिंह पुरी, मनसुख मांडविया, भूपेंद्र यादव, पुरुषोत्तम रुपाला, अनुराग ठाकुर और जी किशन रेड्डी, पंकज चौधरी, अनुप्रिया पटेल और सत्यापाल सिंह पटेल के नाम शामिल हैं।

गौरतलब है कि किरण रिजिजू, आर. के. सिंह, हरदीप सिंह पुरी, अनुराग ठाकुर, मनसुख मंडाविया, भूपेंद्र यादव, पुरुषोत्तम रूपाला, जी. किशन रेड्डी ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली।

वहीं, उत्तर प्रदेश से भानुप्रताप सिंह वर्मा, गुजरात के दर्शन विक्रम जरदोश, नई दिल्ली से लोकसभा सदस्य मीनाक्षी लेखी, अन्नपूर्णा देवी (झारखंड), ए. नारायणस्वामी (कर्नाटक), कौशल किशोर (उत्तर प्रदेश) ने केंद्रीय राज्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। इसके अलावा कर्नाटक से सांसद राजीव चंद्रशेखर और शोभा करंदलाजे ने,उत्तर प्रदेश से लोकसभा सदस्य पंकज चौधरी, अनुप्रिया पटेल, एस पी एस बघेल ने भी केंद्रीय राज्यमंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली।

इससे पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, संतोष गंगवार, सदानंद गौड़ा, संजय धोत्रे, रतन लाल कटारिया और देबाश्री चौधरी ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था। बंगाल कोटे से मंत्री बाबुल सुप्रियो भी अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं। इसके अलावा सामाजिक न्याय और अधिकारिका मंत्री थावरचंद गहलोत को कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्ति किया जा चुका है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper