उप्र सरकार के बेमिसाल साढ़े चार साल

Unmatched four and a half years of UP government

उप्र सरकार के बेमिसाल साढ़े चार साल

आशीष वाजपेयी, लखनऊ : उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के साढ़े चार साल पूरे हो चुके हैं। जल्द ही आगामी विधानसभा चुनाव की गहमा गहमी भी शुरू हो जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर प्रदेश की 24 करोड़ जनता को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि यह अविस्मरणीय काल रहा। आत्मविश्वास से लबरेज योगी को सबसे ज्यादा सुकून इस बात को लेकर था कि पिछले साढ़े चार साल के दौरान प्रदेश में कहीं दंगा नही हुआ। यह पूरा काल सुशासन को समर्पित रहा। अपराध औऱ अपराधियों पर अंकुश लगा। अपराधियों की अवैध ढंग से जुटाई गईं संपत्तियां जब्त की गईं। ज्यादातर अपराधी या तो जेल में हैं या प्रदेश छोड़ चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारें अपने लिए मकान बनाने की होड़ में लगी रहती थीं, जबकि हमने गरीबों के लिए 42 लाख मकान बनवाए। इन साढ़े चार वर्षों में 4.5 लाख नौजवानों को नौकरी दी गईं। इज ऑफ डूइंग बिजनेस में प्रदेश इतना आगे बढ़ चुका है कि कभी बीमारू राज्य रहने वाला उप्र आज इज ऑफ डूइंग बिजनेस में देश में दूसरे स्थान पर है। इसी तरह निवेश के मामले में 14 से दूसरे नंबर पर पहुंच चुका है। इसकी वजह यह है कि प्रदेश में निवेश का जबर्दस्त माहौल बना है। प्रदेश में तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश आया है। विदेश औऱ देश के तमाम हिस्सों से निवेशक उत्तर प्रदेश का रुख कर रहे हैं।

एक समय सूक्ष्म लघु उद्यम (एमएसएमई) मृतप्राय हो चुका था। मुख्यमंत्री का कहना था कि आज वही करोड़ों को रोजगार दे रहा है। मुख्यमंत्री इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देने से नहीं चूके। उनका कहना था कि उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर भारत के प्रधानमंत्री जी के सपने को साकार कर रहा है। इसकी वजह यह है कि नौजवानों के नौकरी का मुद्दा हो या, बहन बेटियों की सुरक्षा का मामला हो या फिर ट्रांसफर पोस्टिंग, सब पर लगाम लगी। उन्होंने कहा कि पहले हर मंडल कमिशनरी जिलों के अधिकारी हर महीने-दो महीने में ताश के पत्तो की तरह फेंटे जाते थे, ट्रांसफर होते थे, लेकिन हमने उसे लगाम लगाकर स्थिरता का माहौल दिया। यही कारण है कि आज केंद्र सरकार की 44 योजनाओं को सफलतापूर्वक संचालित करने में उप्र प्रदेश पहले स्थान पर है।

इस साढ़े चार वर्षों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने प्रदेश में जो विकास कार्य कराए वे अभूतपूर्व हैं। लोककल्याण और विकास के किसी भी क्षेत्र को अछूता नहीं छोड़ा। अब तक उपेक्षित और हाशिए पर पड़े लोगों और किसानों का विशेष ध्यान रखा, तो औद्योगिक विकास की तरफ भी भरपूर ध्यान दिया। शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, कारोबार सुभीता ऐसा कुछ भी नहीं छोड़ा, जिससे अधूरे विकास की तस्वीर उभरती। उन्होंने बताया कि 1 करोड़ 56 लाख से अधिक गैस कनेक्शन, 6 करोड से अधिक आयुष्मान बीमा कवर, 2 करोड़ 53 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि,15 करोड़ लोगों को निशुल्क राशन कर रही है। ये तब सम्भव हुआ जब हमने पारदर्शिता की और स्थिरता दी। इसलिए हर क्षेत्र में प्रदेश आगे बढ़ रहा है।

योगी का कहना था कि आज भले ही किसानों के नाम पर कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं और धरने-प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन वे कभी भी किसानों का भला नहीं चाहते। इसके विपरीत किसान कर्जमाफी से हमने किसान कल्याण की योजना को आगे बढ़ाया है, उत्तर प्रदेश में जहां जल संसाधन भरपूर होता था लेकिन योजनाओं का क्रियान्वयन न होने से किसानों को पूरा-पूरा लाभ नही मिल पाता था, लेकिन आज वो सब चल रहा है! पहले चीनी मिलें लगातार बंद होती गईं, किसान आत्महत्या करने को मजबूर हुआ, यहां तक कि पूर्ववर्ती एक सरकार ने तो चीनी मलों को कौड़ियों के मोल बेचना भी शुरू कर दिया था, लेकिन हमने उन चीनी मिलों को लगातार चलाया। कोरोना काल मे भी लगातार चलती गईं। पिछली सरकारें आढ़तियों के माध्यम से धान-गेहूं क्रय करती थीं, जब कि हमने सीधे किसानों से खरीदी करके,उन्हें डीबीटी के माध्यम से पैसे दे रहे हैं, जो सीधे बिना बिचौलिए के उनके पास पहुंच रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश स्वच्छ, समर्थ बन रहा है,निवेश में मामले में प्रदेश निवेशकों की पसंद बन रहा है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था मजबूत हुई, कोविड प्रबंधन की न सिर्फ राष्ट्रीय स्तर पर,बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई। आज उत्तर प्रदेश में कोरोना पर पूरी तरह से नियंत्रण है। प्रदेश ने कोरोना टीकाकरण का रिकार्ड कायम किया है।

मुख्यमंत्री प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी बोलने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि ये वही प्रदेश है जहां गुंडे माफिया सत्ता संरक्षण प्राप्त करके भय का माहौल बनाये रहते थे। पिछली सरकार में खासकर सन् 2012 से 17 तक औसतन हर तीसरे दिन एक दंगा होता था, लेकिन पिछले साढ़े 4 वर्षो में हमने इसके खिलाफ काम किया, माफिया के खिलाफ ध्वस्तीकरण जब्तीकरण का कार्य किया। उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी आपदा आती थी तो गरीबों को महीनों कोई बचाव के उपाय नहीं मिलता था लेकिन आज सरकार संवेदना के साथ किसी भी आपदा में जनता के साथ खड़ी होती है। 24 घंटे सहायता मिलती है।

उन्होंने कहा कि सरकार आज चेहरा देखकर नही योग्यता के आधार पर प्रदेश के नौजवानों को नियुक्तियां पारदर्शी तरीके से दे रही है। पहले जब भर्तियां निकलती थीं तो पूरा खानदान वसूली के लिए झोला लेकर निकल पड़ता था। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश एक्सपोर्ट में एक नए हब के रूप में सामने आया है। हमारी सरकार को प्रयागराज कुम्भ का अयोजन करने का अवसर मिला। हमने सुरक्षा, सुव्यवस्थित करके देश नही दुनिया को दिखाया। बनारस में सफलतापूर्वक प्रवासी भारतीय सम्मेलन करके दिखाया, अयोध्या दीपोत्सव, बरसाना रंगोत्सव सब को करके दिखाया। पहले की सरकारें इन्हें करने में सशंकित रहती थीं।

प्रदेश में योगी सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, रोजगार, सुरक्षा, उद्योग लगभग हर क्षेत्र में बेहतरीन काम किया है। यह साफ-साफ दिख भी रहा है और इसका असर भी लोग महसूस कर रहे हैं। यही कारण है कि जहां अन्य दलों के लोग सरकार को लेकर जनता में भ्रम फैलाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं, वहीं आत्मविश्वास से लबरेज योगी सरकार आज भी अधूरे, पिछड़े कामों को तेजी से पूरा कराने का प्रयास कर रही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper