उन्नाव कांड : दूसरा आरोपी भी निकला बालिग, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए दोनों

उन्नाव जिले में बबुरहा गांव में बुआ-भतीजी की हत्या और चचेरी बहन के गंभीर होने के मामले में पकड़े गए दोनों आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। खुद को नाबालिग बताने वाला एक आरोपित आधार कार्ड की जांच में बालिग पाया गया है।

न्यायिक हिरासत

अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पाण्डेय ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि उन्नाव प्रकरण में पकड़े गए दोनों आरोपितों को न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। पकड़े गए दोनों आरोपितों में से एक आरेापित ने खुद को नाबालिग बताया था। इसके बाद पुलिस ने उसे बाल सुधार गृह भेज दिया था। लेकिन उसके आधार कार्ड की जांच की गई तो वह बालिग पाया गया है, जिसके चलते उसे भी न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

शिवपाल यादव ने AIMIM से दिये गठबंधन के संकेत, शादी समारोह में दोनों नेताओं की हुई चर्चा

उल्लेखनीय है​ कि जनपद के बबुरहा गांव में बुआ-भतीजी की हत्या और एक किशोरी के गंभीर होने के मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। पुलिस का दावा है कि एकतरफा प्रेम में युवक विनय ने अपने साथी साथ मिलकर कीटनाशक मिलाकर एक किशोरी को पानी पिलाया। यह पानी उसके अलावा उसके साथ मौजूद बुआ-भतीजी ने भी पिया था। इससे उनकी मौत हो थी। जबकि एक किशोरी कानपुर के अस्पताल में भर्ती है। आरोपित ने अपना गुनाह स्वीकार कर बताया कि उसने ही वारदात को अंजाम दिया है। जिसे मारना चाहता था, वह किशोरी बच गई। उसका इलाज चल रहा है।  

Related Articles

Back to top button
E-Paper