उन्नाव कांड : घायल युवती के इलाज का पूरा खर्च उठाएगी योगी सरकार, डीएम ने दी जानकारी

लखनऊ उन्नाव के असोहा थानाक्षेत्र में तीन बच्चियों के साथ हुई घटना में जीवित आखिरी किशोरी अभी भी जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है। बच्ची का इलाज छह सदस्यीय विशेषज्ञ डॉक्टरों का पैनल कर रहा है और अभी उसे एनआईसीयू वार्ड के वेंटीलेटर पर रखा गया है। यह बात गुरुवार को रीजेंसी अस्पताल के जनसम्पर्क अधिकारी परमजीत अरोड़ा ने पत्रकारों को दी।

उन्नाव

वहीं जिलाधिकारी उन्नाव रवीन्द्र कुमार ने बताया कि असोहा थाना क्षेत्र में घटित घटना में घायल युवती का इलाज कानपुर की रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है। डॉक्टर्स पल-पल की खबर जारी कर रहे है। उनकी वहां के जनसम्पर्क अधिकारी से बातचीत हुई है। इलाज में आने वाला सारा खर्च शासन उठाएगा।

उन्नाव कांड : पीड़ित परिवार को किया गया नजरबंद, छावनी में तब्दील किया गया गांव

जिलाधिकारी ने रीजेंसी अस्पताल के जनसम्पर्क अधिकारी परमजीत अरोड़ा को एक पत्र भेजा है। इसमें उन्होंने कहा है कि बुधवार को जनपद में घटित घटना में घायल एक युवती को इलाज के लिए रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में आने वाली व्यय की व्यवस्था शासन द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष से की जायेगी।

इससे पहले जनसम्पर्क अधिकारी परमजीत अरोड़ा ने बताया कि किशोरी के शरीर पर कोई भी चोट के निशान नहीं मिले हैं। डाक्टर अभी भी यह पता नहीं लगा सके हैं कि किस प्रकार का जहरीला पदार्थ सेवन कराया गया है या कुछ और कारण है। उन्होंने बताया कि किशोरी का इलाज डॉक्टर रश्मि कपूर के साथ छह सदस्यीय टीम द्वारा किया जा रहा है। इसके साथ ही पीआईसीयू व एनआईसीयू की टीमें भी लगी हैं। वर्तमान में एनआईसीयू वार्ड के वेंटीलेटर पर किशोरी है और अभी हालत यथास्थिति है।

उन्होंने बताया कि कुछ समय बीतने के बाद हालात में सुधार आने की संभावना है। उन्होंने पल्स रुकने की बात से इंकार किया और किशोरी की दशा में जल्द सुधार का भरोसा जताया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper