एक दिन में सबसे ज्यादा 3.07 लाख टेस्ट करने वाला पहला राज्य बना यूपी

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में तेजी से गिरावट आई है। इसके लिए योगी सरकार की ट्रेस,टेस्ट और ट्रीट के मूल मंत्र को वजह बताया जा रहा है। सरकार की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, पिछले 21 दिन में कोरोना के मामलों में 2.15 लाख की कमी आई है।

देश का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य होने के बावजूद यूपी कोरोना के सबसे कम मामलों वाले प्रदेशों की सूची में आ गया है। इतना ही नहीं, योगी सरकार ने टेस्टिंग में नया रिकार्ड बनाया है। एक दिन में सबसे ज्यादा 3.07 लाख टेस्ट करने वाला यूपी देश का पहला राज्य बन गया है। योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में सबसे ज्यादा टेस्ट कराए हैं. आंकड़ों के मुताबिक, 31 मार्च से 18 मई के बीच प्रदेश में कुल 1.07 करोड़ कोविड टेस्टि हुए. इनमें से लगभग 37 लाख टेस्ट शहरी, जबकि 70 लाख टेस्ट ग्रामीण इलाकों में किए गए।

इसके अलावा निगरानी समितियों के 4 लाख सदस्यों के माध्यम में गांवों में घर-घर जाकर कोरोना के संक्रमण को ट्रेस करने का काम किया कया है। टेस्टिंग की आक्रामक रणनीति के तहत यूपी में हर दिन टेस्ट का आंकड़ा बढ़ा है, जबकि दूसरे राज्यों में टेस्ट घटाने के आरोप लगे हैं।

आक्रामक टेस्टिंग की रणनीति के साथ राज्य सरकार ने प्रयोगशालाओं की क्षमता भी बढ़ाई है। इसके तहत प्रदेश की प्रयोगशालाओं में कुल 51 नई आरटी-पीसीआर मशीनें, 35 सेमी आटोमेटिक डीएनए एक्स्ट्रैक्टर और 503 अतिरिक्त लोगों को लगाया गया है। प्रदेश में कुल 2 करोड़ आरटीपीसीआर टेस्ट किए जा चुके हैं। पहले 1 करोड़ टेस्ट करने में जहां लगभग 11 महीने का समय लगा था, वहीं दूसरे 1 करोड़ टेस्ट के आंकड़े को पार करने में महज 4.5 महीने का समय लगा।

प्रदेश में नए मामलों की बात करें तो 24 अप्रैल को यूपी में 38 हजार से ज्यादा मामले आए थे, जबकि पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए मामलों की संख्या 6046 रही है। 24 अप्रैल के मुकाबले नए मामलों में 32 हजार की कमी आई है। वहीं, स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 17540 यानी संक्रमितों के मुकाबले करीब तीन गुना रही।

राज्य सरकार वैक्सीनेशन बढ़ाने पर भी लगातार ध्यान दे रही है। वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किया गया है। प्रदेश में शुक्रवार तक वैक्सीन की कुल 1 करोड़ 58 लाख डोज लगाई गई। इनमें 10 लाख से ज्यादा वैक्सीन की डोज 18 से 44 साल के उम्र के लोगों को लगाई गई है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper