कोरोना काल में अल्पसंख्यक आयोग दिखा रहा तेजी, ऑनलाइन हो रहा शिकायतों का निस्तारण

कोरोना काल के दौरान यूपी की योगी सरकार की योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंचाने के साथ-साथ सामाजिक सरोकार को पूरा करने में उत्तर प्रदेश राज्य अल्पसंख्यक आयोग लगा हुआ है। आयोग ने यूपी के सिख बाहुल्य जिलों में बड़े स्तर पर ओबीसी प्रमाण पत्र जारी किये हैं। इसके लिये आयोग के सदस्यों ने कोविड काल के दौरान सभी जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बैठक की और सिख समाज को ओबीसी प्रमाण पत्र बनवाने में आ रही समस्याओं को दूर करवाया।

पिछले एक वर्षों में आयोग ने अनेक गंभीर मामलों का संज्ञान लिया, जिसमें मुख्य रूप से मुस्लिम महिलाओं के ट्रिपल तलाक की शिकायतें निस्तारित की गईं। अल्पसंख्यकों के जमीन हितों से जुड़े व अन्य मानवाधिकारों के प्रकरण को सुलझाया गया।

यूपी में राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने 500 अल्पसंख्यक युवाओं को 05 लाख तक का ऋण आसान किस्तों, कम ब्याज दर पर वितरित कराया है। अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के उत्पीड़न की शिकायत पर संज्ञान लेकर लेकर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश जारी किए हैं।

उत्तर प्रदेश राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार परविंदर सिंह (एडवोकेट) ने बताया कि योगी सरकार के निर्देश पर उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग वर्तमान में कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए ऑनलाइन कार्य को प्राथमिकता दे रहा है। आयोग ने ईमेल आईडी :-aauplko@gmail.com और व्हाट्सएप नंबर 8687961333 जारी किया है, जिस पर प्रार्थना पत्र मंगवा कर उसमें से गंभीर प्रकरणों को अलग किया जा रहा है। संबंधित अधिकारियों से बातचीत कर आवश्यक निर्देश जारी किये जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper