UP News : योगी सरकार में डकैत गौरी यादव समेत मारे गये 33 अपराधी

लखनऊ। अपराध को लेकर जीरो टॉरलेंस की नीति पर चल रही योगी सरकार में एसटीएफ शासन की मंशा के अनुरुप कार्य कर रही है। अब तक एसटीएफ ने कुख्यात डकैत गौरी यादव समेत 33 अपराधियों को मार गिराया है। इसके साथ ही एसटीएफ की सबसे बड़ी कामयाबी यह रही कि 33 जघन्य अपराध को घटना से पहले ही रोक दिया और 4060 अपराधी पकड़े गए हैं।

योगी सरकार

303 साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में एसटीएफ की सतर्कता के फलस्वरूप हत्या, लूट जैसे 333 जघन्य अपराधों को घटित होने से पूर्व ही रोकने में सफलता प्राप्त की है। साइबर अपराधोें पर कड़ी कार्यवाही करते हुए 303 साइबर अपराधियों की भी गिरफ्तारियां हुई है। इस अवधि में फर्जी शिक्षकों की गहन छानबीन कर 53 फर्जी शिक्षकों की गिरफ्तारियां हुई।

एसटीएफ ने पकड़े 4060 अपराधी

योगी सरकार के कार्यकाल में एसटीएफ ने 1590 ऑपरेशन को सफलतापूर्वक पूर्ण कर कुल 4060 अपराधियों की गिरफ्तारी की है। इनमें 2538 संगठित अपराधी और 560 इनामी अपराधी गिरफ्तार किये गये हैं। गिरफ्तारी के दौरान हुई मुठभेड़ में 33 अपराधी मारे गए। आंतकवादी एवं राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के विरूद्ध चलाये गये विभिन्न अभियानों के अन्तर्गत कुल पांच अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई है।

मादक पदार्थ की तस्करी में 528 तस्कर गिरफ्तार

मादक पदार्थों की धरपकड़ के लिए चलाए गए अभियान के तहत इस अवधि में 528 तस्करों को गिरफ्तारी हुई है। जिनसे लगभग सवा चार सौ करोड़ रुपये से अधिक मादक सामग्री बरामद की गई। इसके अलावा अवैध शराब की तस्करी में लिप्त 398 अपराधियों को गिरफ्तार कर इनसे 65914 पेटी शराब (लगभग 9.5 करोड़ रुपये), 328416 लीटर (लगभग 4.10 करोड़ रुपये) की रेक्टिफाइड स्प्रिट व 7560 तैयार देशी शराब बरामद की गयी है।

95 वन्यजीव तस्कर गिरफ्तार

एसटीएफ द्वारा वन्य तस्करी को रोकथाम और तस्करों के खिलाफ भी अभियान चलाया गया। एसटीएफ ने प्रभावी कार्रवाई करते हुए इस अवधि में 95 वन्यजीव तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से लगभग 210 किलोग्राम वन्यजीव सामग्री एवं प्रतिबन्धित पक्षियों आदि की बरामदगी की गयी है।

पति ने पत्नी की शादी उसके प्रेमी से कराई, सखी केन्द्र व पुलिस बने बराती

अपराधियों ने जमानते कराई कैंसिल

प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने जीरो टॉलरेंस नीति के तहत अपराधियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने एसटीएफ के साथ मिलकर ताबड़तोड़ कार्रवाईयां की। राज्य सरकार में पुलिस की कार्रवाई से अपराधी या तो राज्य छोड़कर दूसरे राज्य में छिपने को मजबूर हो गये है या तो उन्होंने अपनी जमानतें कैंसिल करवा ली हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper