UP Vidhansabha Special Session : विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान शुरू, कांग्रेस ने किया बहिष्कार

उत्तर प्रदेश विधानसभा का विशेष सत्र आधिकारिक तौर से आज शरू हो चुका है. विधान भवन के नए विशेष सत्र के शुरू होने के साथ ही कड़े सुरक्षा इंतज़ाम किये गये हैं. पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि के बाद विधानसभा भवन में आगे की कार्यवाही शुरू की गयी है. दरअसल, इस विशेष सत्र में विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान शुरू हो गये हैं . इसके अलावा करीब 15 नए विधेयकों और संसोधनों पर चर्चा हो सकती है. इस विशेष सत्र में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नहीं शामिल हो रहे हैं.

विधानसभा उपाध्यक्ष पद

शुरू हो चुका है विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान

जानकारी के मुताबिक, सुबह करीब 11 बजे सत्र कि शुरुआत हो गयी. सत्र की शुरुआत के साथ ही विधानसभा उपाध्यक्ष को चुनने के लिए मतदान शुरू गया है. यह मतदान करीब शाम 3 बे तक चलने कि उम्मीद जताई जा रही है. उपाध्यक्ष पद के लिए नितिन अग्रवाल और नरेन्द्र सिंह वर्मा आमने-सामने हैं. लेकिन सदन में हंगामा की शुरुआत भी हो चुकी है. सपा ने सबसे पहले जमकर हंगामा काटना शुरू कर दिया है. कांग्रेस और महान दल ने भी मिलकर एक साथ चुनाव का बहिष्कार किया है.

Lakhimpur Kheri Case: मंत्री के इस्तीफ़े की मांग लेकर धरने पर बैठी कांग्रेस

महंगाई को लेकर सपा ने कसे तंज

सत्र शुरू होने से पहले ही सपा ने मौजूदा सरकार के सामने सदन में महंगाई के विरोध में नारेबाजी की और विधानसभा के सामने काले गुब्बारे उड़कर अपना विरोध जताया. गैस सिलेंडर के बढ़ते दामों को मुद्दा बनाते हुए सपा विधायकों ने हाँथ में गैस सिलेंडर के पोस्टर लेकर जमकर विरोध किया. पुलिस कर्मियों ने सपा के विधायकों को बेहद मशक्कत के बाद वहां से हटाया.

14 साल बाद मिलेगा उपाध्यक्ष

विधानसभा भवन में चल रहे विशेष सत्र के दौरान के उपाध्यक्ष पद के मतदान में अगर परिणाम आता है तो आज उत्तर प्रदेश विधानसभा को लगभग 14 साल के बा नया उपाध्यक्ष मिल जायेगा. इससे पहले 2007 में राजेश अग्रवाल असेम्बिली के डिप्टी स्पीकर थे. भाजपा ने सपा के बागी नेता नितिन अग्रवाल को सपोर्ट किया है. उनकी जीत तय मानी जा रही है. मुख्यमंत्री योगी भी सदन में मौजूद हैं.

Related Articles

Back to top button
E-Paper