खरी खरी : स्वांग इन दिनों

Urmil Kumar Thapliyal

उर्मिल कुमार थपलियाल

समर्थक- मैं तेरे अगल बगल हूँ
विरोधी- हमको रोकने का नई
समर्थक- हमको टोकने का नई
विरोधी- ज्यादा फेंकने का नई
समर्थक- ज्यादा भौंकने का नई
विरोधी- परे हट। तेरे पास है क्या बता।
समर्थक- मेरे पास सरकार है। जनमत है।
शासन है। तेरे पास क्या है।
विरोधी- मेरे पास मां है।
समर्थक- मगर तेरी मां के पास न बहू है न बहुमत है। तुम कर क्या रहे हो।
विरोधी- जो बाकी राजनैतिक दल कर रहे हैं।
समर्थक- क्या कर रहे हें
विरोधी- लुगी डांस, लुंगी डांस
समर्थक- यूपी में क्या चल रहा है
विरोधी- फिलहाल तुफान से पहले की शांति है
समर्थक- इटालियन अम्मा का नारा क्या है
विरोधी- अपना हाथ जगन्नाथ
समर्थक- बेटा क्या कर रहा है
विरोधी- ये देश अधेड़ जवानों का
समर्थक- चुनाव आ गए हैं
विरोधी- मौत का एक दिन निश्चित है
समर्थक- क्षेत्रीय दल इन दिनों क्या कर रहे हैं।
विरोधी- फिलहाल साइलेंट मोड पर हैं
समर्थक- देखना, अगली सरकार देश को स्वर्ग बना देगी
विरोधी- तब तो हम सबको स्वर्गवासी होना पड़ेगा
समर्थक- तेरे मुंह में ऊंट
विरोधी- तेरे मुंह में जीरा

Related Articles

Back to top button
E-Paper