यूपी की अजीबो-गरीब आबकारी पॉलिसी, घर में शराब रखने के लिए लेना होगा लाइसेंस

आबकारी पॉलिसी

लखनऊ: यूपी में सीमा से ज्यादा शराब रखने पर पाबंदी, घर में तय मानक से ज्यादा रखने पर पड़ेगी फीस,तय सीमा से ज्यादा शराब रखने के लिए चाहिए लाइसेंस, लाइसेंस नहीं तो शराब रखने पर लगेगा जुर्माना, 12 हजार में एक साल के लिए मिलेगा लाइसेंस,

CM योगी ने अवध शिल्पग्राम में किया यूपी स्थापना दिवस का शुभारंभ, बांटे पुरस्कार

उत्तर प्रदेश में अब सीमा से ज्यादा शराब रखने पर आबकारी विभाग कार्रवाई करेगा। जिसके तरह आपको जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। तो वही लिमिट से ज्यादा शराब घर में रखने के लिए अब लाइसेंस लेना होगा। हालांकि शराब की लिमिट क्या होगी, इस पर आबकारी नीति में कुछ नहीं कहा गया है। लेकिन ये तय है कि बारह हजार की सालाना लाइसेंस फीस देनी होगी। इसके साथ ही  51 हजार रुपये फीस आबकारी विभाग को बतौर सिक्योरिटी देनी होगी।

रविवार को यूपी सरकार ने नई आबकारी नीति जारी किया है। यूपी सरकार के आबकारी विभाग की नीति के तहत अगर आप घर में निर्धारित लिमिट  से ज्यादा शराब रखना चाहते हैं। तो आपको आबकारी विभाग से लाइसेंस लेना पड़ेगा। जिसके तहत आपको 12 हजार रुपये चुकाने पड़ेंगे। आपको ये भी बता दें कि 12 हजार रूपये फीस केवल एक साल के लिए है। इसके अलावा आपको 51 हजार रुपये आबकारी विभाग को बतौर सिक्योरिटी देना पड़ेगा।

तो वहीं बिना लाइसेंस के घर में अधिक शराब रखने पर कार्रवाई भी की जाएगी। इसके साथ ही आपको ये भी बता दें कि होम लाइसेंस के लिए ऐसे लोग ही अप्लाई कर सकते हैं जो पिछले पांच साल से INCOME TAX भरते आए हैं। शराब के लाइसेंस के लिए आवेदन के समय इनकम टैक्स की रसीद भी देनी होगी। इसके साथ ही अप्लाई करने वालों को अपने आवेदन के साथ पैन कार्ड आधार कार्ड की कॉपी भी जमा करनी होगी।

यूपी की अजीबो गरीब आबकारी पॉलिसी, घर में शराब रखने के लिए लाइसेंस लेना होगा। आबकारी विभाग सालाना 12 हजार  फीस लेगा। 51 हजार रुपए गारंटी मनी भी लेगा विभाग। घर पर शराब पीने वालों  के लिए यह बुरी खबर है। बिना लाइसेंस घर में शराब रखी तो जुर्माना और कानूनी कार्रवाई करेगा आबकारी विभाग। तो वहीं आबकारी की नई पॉलिसी से आम जनमानस में नाराजगी। जहरीली शराब रोकने में नाकाम है  आबकारी विभाग।  लेकिन घर पर ब्रांडेड दारू पीने वालों पर सरकारी डंडा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper