Uttarakhand : जारी है बारिश का कहर, सरकार ने दिए 20 तक हाई अलर्ट के निर्देश

उत्तराखंड से मानसून की विदाई के बाद देहरादून सहित प्रदेश भर में रविवार सुबह से झमाझम बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के चलते राज्य में भारी से बहुत भारी को बारिश को लेकर अगले तीन दिन तक ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इस चेतावनी के मद्देनजर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रबंधन विभाग, पुलिस प्रशासन और सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

अलर्ट के निर्देश

बारिश के चलते घरों में दुबके हैं लोग

रविवार सुबह से ही राजधानी देहरादून सहित आसपास के इलाकों में बारिश का दौर जारी है। पहले हल्की बूंदाबांदी हुई। फिर दस बजे के बाद बारिश की बौछारें तेज गति से पड़ने लगीं, जिससे मौसम में एक बार फिर से ठंड बढ़ गई है। आज छुट्टी के दिन होने के बावजूद पर्यटक होटल और स्थानीय लोग अपने घरों में दुबके हुए हैं। सूर्यदेव पूरी तरह बादलों की ओट में छिपे हुए हैं। बारिश के चलते दून में बिजली भी गुल है।

हो सकती है ओलावृष्टि

राज्य के मैदानी और पर्वतीय इलाकों में अगले 24 घंटे तक भारी से बहुत भारी बारिश के साथ ओलावृष्टि की भी संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ के एक बार फिर सक्रिय होने के कारण मौसम प्रभावित रहेगा। कहीं-कहीं मध्यम गरज और आकाशीय चमक के साथ हवा के तेज झोंकों के आसार हैं। कुछ स्थानों पर तेज हवाएं 80 किलोमीटर प्रति घंटा तक चलने की संभावना है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार चौथे दिन भी हुआ इजाफा, जानिए लखनऊ में क्‍या हैं दाम

एसडीआरफ को किया अलर्ट

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मौसम को लेकर मुख्य सचिव एसएस संधू से अयोध्या से दूरभाष पर जानकारी ली। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन विभाग, पुलिस प्रशासन एसडीआरफ और सभी जिलाधिकारियों को संवेदनशील स्थानों पर हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री 16 अक्टूबर से अयोध्या के दो दिवसीय भ्रमण पर हैं। वे आज दोपहर तक देहरादून लौट आएंगे।

स्थानीय लोगों को भी अलर्ट

उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण,आपदा प्रबंधन विभाग ने इस चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए सभी स्थानीय निवासियों और यात्रियों से सतर्कता बरतने, नदी नालों से दूरी बनाने और सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है। उत्तराखंड की यात्रा पर आ रहे यात्रियों और यात्रा कर रहे यात्रियों से भी अनुरोध है कि बे मौसम की चेतावनी को देखते हुए अपनी यात्रा की योजना बनाएं। विशेष तौर पर इस अवधि में यात्रा करने से बचने का आग्रह किया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper