पीलीभीत में ओमिक्रोन के खतरे पर वरुण गांधी ने जतायी चिंता

उत्तर प्रदेश में पीलीभीत से भाजपा सांसद वरुण गांधी ने कोविड के बाद अब जिले में ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे पर चिंता जताते हुये ज़िले के प्रमुख चिकित्साधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर एहतियाती उपायों की चर्चा की।
वरुण ने शनिवार को पीलीभीत के वरिष्ठ चिकित्सकों से ओमीक्रॉन से वचाव और सतर्कता पर परामर्श कर इस दिशा में जागरुकता अभियान चलाने की बात कही। वरुण के सचिव एम आर मालिक ने आज बताया कि बैठक में उन्होंने कहा कि बच्चों को लेकर ज़्यादा सतर्कता बरतनी होगी।
वरुण ने ट्वीट कर बैठक की जानकारी देते हुये बताया कि ओमीक्रॉन का खतरा लगातार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, “मैं पीलीभीत में जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ समयबद्ध तरीके से चिकित्सा सेवायें दुरुस्त करने के बारे में बैठक करते हुये नये साल की शुरुआत कर रहा हूं। मेरा अन्य विधि निर्माताओं से भी अनुरोध है कि वे भी अपने क्षेत्रों में चिकित्सा इंतजामों की यथाशीघ्र समीक्षा करें।”
उन्होंने चिकित्साधिकारियों से कहा कि अगर कोई बच्चा इस वायरस से संक्रमित होता है तो उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कर उचित इलाज मुहैया कराया जाये। वरुण ने कहा कि जिन ग्रामसभाओं में टीकाकरण की कमी रह गयी है वहां शीघ्र कैम्प लगाकर शतप्रतिशत टीकाकरण कराया जाना चाहिए।
साथ ही उन्होंने महामारी की स्थिति से निपटने के लिए अस्पतालों में ऑक्सीजन सहित अन्य जरूरी सुविधाओं के इंतजाम पहले से करने की जरुरत पर भी बल दिया। सांसद ने कहा कि निगरानी समितियों की स्थिति तत्काल सुधारने और टेस्टिंग बढ़ाने पर भी ज़ोर दिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper