बर्ड फ्लू: लखनऊ प्राणि उद्यान में वन्य जीवों को चिकन देने पर रोक

लखनऊ: देश के पांच राज्यों केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश एवं हरियाणा में बर्ड फ्लू के संक्रमण के कारण उत्तर प्रदेश में जहां सघन निगरानी की जा रही है। वहीं इसे लेकर लखनऊ प्राणि उद्यान प्रशासन भी सतर्क हो गया है। यहां कुछ समय के लिए वन्य जीवों को भोजन में मुर्गा देने पर रोक लगा दी गई है। वहीं अंडों को 20 मिनट उबालने के बाद ही दिया जा रहा है।

प्रवासी भारतीय दिवस पर CM योगी ने दी शुभकामनाएं, विकास में योगदान को सराहा

प्राणी उद्यान के निदेशक आरके सिंह ने शनिवार को बताया कि बर्ड फ्लू की रोकथाम और बचाव के लिए कई तरह के फैसले किए गए हैं। एहतियात के तौर पर प्राणी उद्यान में किसी भी प्रकार के बाहरी वाहनों का प्रवेश पूरी तरह वर्जित कर दिया गया है। प्राणी उद्यान में प्रवेश करने वाले सभी दर्शक एवं कर्मचारियों को फुटवॉश का प्रयोग करके तथा हाथों के  सेनेटाइजेशन के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। सभी बाड़ों विशेष तौर पर पक्षियों के बाड़ों का सेनेटाइजेशन किया जा रहा है तथा बाड़ों के अगल-बगल चूने का छिड़काव भी किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि लखनऊ प्राणि उद्यान में बर्ड फ्लू के प्रकोप को देखते हुए अभी कुछ समय के लिए भोजन में दिए जाने वाले पोल्ट्री को बंद कर दिया गया है। वहीं अंडों को 20 मिनट उबालने के उपरांत ही वन्य जीवों को दिया जा रहा है। पक्षियों के बाड़ों के अंदर या बाहर किसी भी पक्षी में किसी प्रकार के लक्षण प्रतीत होते हैं तो उसे तुरंत विस्तृत जांच के लिए भेजा जाएगा। इसके साथ ही प्राणी उद्यान परिसर के अंदर यदि किसी पक्षी की मृत्यु होती है तो उसे बर्ड फ्लू के प्रोटोकॉल के उपरांत सारी सतर्कता बरतते हुए जांच के लिए भेजा जाएगा।

उन्होंने बताया कि पक्षी बाड़े के कीपरों को बर्ड फ्लू के बारे में जागरूक किया गया है, जिससे वह सतर्क रहे। प्राणी उद्यान में दिए जाने वाले भोजन को पोटैशियम परमैंगनेट के घोल से साफ करके ही वन्य जीवों को दिया जा रहा है। सभी पक्षियों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए विशेष तौर पर औषधियां दी जा रही हैं। प्राणी उद्यान में बर्ड फ्लू के लिए अलग से आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था भी की गई है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper