कोरोना संक्रमण के मद्देनजर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में वर्चुअल प्रारंभ हुयी सुनवायी

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय की जबलपुर स्थित मुख्यपीठ सहित ग्वालियर और इंदौर खंडपीठ में आज से वर्चुअल सुनवाई प्रारंभ की गयी।
कोरोना संक्रमण के मद्देनजर उच्च न्यायालय की विशेष कमेटी ने इस संबंध में एसओपी जारी की थी। यह प्रक्रिया आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगी।
प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ रहा है। सुरक्षा कारणों से उच्च न्यायालय प्रशासन ने आज से सिर्फ वर्चुअल सुनवाई की व्यवस्था पुनः प्रारंभ की है। उच्च न्यायालय की वेबसाइड लिंक के माध्यम से अधिवक्ता और संबंधित पक्षकार न्यायालय के समक्ष अपना पक्ष रख सकते हैं। महाधिवक्ता कार्यालय को भी वर्चुअल मोड में शासकीय अधिवक्ताओं की उपस्थित सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए गए हैं।
प्रकरण संबंधित दस्तावेज के डॉपबॉक्स में डालने की व्यवस्था की गयी है। नयी याचिका ई-फायलिंग या ड्रॉपबॉक्स के माध्यम से प्रस्तुत कर सकते हैं। आवश्यक लंबित प्रकरण की सुनवाई के लिए अधिवक्ता आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। अधिवक्ताओं से आग्रह किया गया है कि अति आवश्यक प्रकरण की सुनवाई के लिए आवेदन प्रस्तुत करें।
याचिका में हुई त्रृटि दूर करने लिए निर्धारित केन्द्र में अधिवक्ताओं की व्यक्तिगत उपस्थित की छूट दी गयी है। आदेश की प्रति और दस्तावेज सिर्फ ऑनलाइन माध्यम से प्रदान किए जाएंगे। बार एसोसिएशन के कार्यालय और केंटीन बंद कर दिए गए हैं। न्यायालय परिसर में वाहन का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। न्यायालाय ने जिन व्यक्तियों को व्यक्ति के रूप में उपस्थित होने के आदेश दिए हैं, उन्हे आईडी और आदेश की प्रति के साथ उपस्थिति की छूट रहेगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper