वसीम रिजवी की बढ़ी मुश्किलें, सीबीआई ने दर्ज की दो FIR

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। रिजवी के खिलाफ सीबीआई ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। जांच एजेंसी ने इसके लिए प्रयागराज एवं कानपुर में जमीनों की खरीद बिक्री को आधार बनाया है।

उल्लेखनीय है कि कानपुर के स्वरुप नगर में वक्फ की जमीन को हड़पने से जुड़े मामले में लखनऊ के हजरतगंज थाने में पहली एफआईआर हजरतगंज कोतवाली में 27 मार्च 2017 को हुई थी।

इसके पहले प्रयागराज में इमामबाड़ा गुलाम हैदर में दुकानों के अवैध निर्माण के मामले में 08 अगस्त 2016 को दूसरी एफआईआर दर्ज हुई थी।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने 11 अक्टूबर 2019 को सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव को पत्र लिखा था।

इसी पत्र पर सीबीआई ने आईपीसी की धाराएं 409, 420 एवं 506 के तहत शिया वक्फ बोर्ड के प्रशासनिक अधिकारी गुलाम सैयद रिजवी, वक्फ इंस्पेक्टर वाकर रजा, नरेश कृष्ण सोमानी, विजय कृष्ण सोमानी एवं पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के विरुद्ध मामला पंजीकृत किया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper