इन 4 लोगों को नहीं खाने चाहिए बादाम, जानें बादाम के फायदे-नुकसान

अगर आप स्‍वस्‍थ आहार लेते हैं तो सेहत भी अच्‍छी रहती है। वैसे भी आज बदलती जीवनशैली की वजह से लोग डायबिटीज, दिल के रोग, स्‍ट्रोक, थायराइड और मोटापे जैसी समस्‍याओं के शिकार हो रहे हैं। आप भले ही कितने ही व्‍यस्‍त क्‍यों न हों अपनी डाइट का पूरा ध्‍यान रखें। इसके लिए अक्‍सर लोगों को ड्राई फ्रूट खाने की सलाह दी जाती है। और जब बादाम का जिक्र होता है तो इसको ड्राई फ्रूट्स  का राजा माना जाता है। तो आईए जानते हैं बादाम के फायदे और नुकसान के बारे में-

बादाम खाने के फायदे

1. तेजी से वजन कम करने में मदद कर सकते हैं

बादाम वजन कम करने में भी मदद कर सकता है, लेकिन इस बात का ध्‍यान रखना जरूरी है क‍ि आप इसे नियंत्रित मात्रा में ही खाएं। असल में बादाम आपको ओवर इटिंग से बचाता है। अगर आप बादाम खाते हैं तो आपको पेट के भरे रहने का अहसास होगा। इसकी वजह है बादाम में मौजूद फाइबर, प्रोटीन और हेल्दी फैट।

2. डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार

बादाम में मैग्नीशियम होता है जो काफी फायदेमंद है। यह डायबिटीज मरीजों में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। अगर बादाम का अच्छी मात्रा में लंबे समय तक सेवन किया जाए तो ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है।

3. ग्लूकोज लेवल कंट्रोल करने में मददगार

ग्लूकोज के लेवल को कंट्रोल करने में बादाम मदद कर सकता है। बादाम में विटामिन ई और मैग्नीशियम होते हैं, जो हड्डियों को मजबूत करने, और शरीर में सुचारू ठंग से खून के फ्लो में मदद कर सकते हैं। इसके साथ ही यह मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है। वहीं डायबिटीज रोगियों को कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाने का सेवन करना चाहिए। कार्बोहाइड्रेट शरीर में ग्लूकोज के लेवल को कम करता है।

किन 4 लोगों को नहीं खाने चाहिए बादाम

1. अगर आपको पाचन से जुड़ी समास्‍याएं रहती हैं तो आपको बादाम खाने में सावधानी बरतने की जरूरत है। मुट्ठीभर बादाम में लगभग 170 ग्राम फाइबर होता है। शरीर को रोज़ाना सिर्फ 25 से 40 ग्राम फाइबर की जरुरत होती है। तो अगर आप रोज़ 3 से 4 बादाम खाते हैं तो यह आपके शरीर में फाइबर की जरूरत को पूरा करता है। अगर आप ज्‍यादा बादाम खा लेते है तो यह पेट से जुड़ी समस्‍याएं जैसे लूज़ मोशन्स और कब्ज की शिकायत पैदा कर सकता है। इसके साथ ही यह पेट में ब्लोटिंग जैसी समस्‍या की वजह भी बन सकता है।

2. अगर आप कोई दवा लेते हैं, तो आपको बादाम की मात्रा पर ध्‍यान देना जरूरी हे। बादाम में काफी मात्रा में मैग्नीशियम होता है। 3 से 4 बादाम में 0।6mg मैग्नीशियम होता है, जबकि रोज़ाना आपके शरीर को इसकी 1।8 से 2।3mg जरुरत होती है। तो अगर आप इससे ज्‍यादा बादाम खाते हैं, तो इससे आपके शरीर को दवाइयों के असर पर फर्क पड़ सकता है। आपके खून में ज़्यादा मात्रा में मैग्नीशियम एंटाएसिड, लैक्सेटिव, ब्लड प्रेशर की दवाइयों और कई एंटीबायोटिक्स जैसे एंटीसाइकोटिक ड्रग्स का असर कम कर सकती है।

3. बादाम में भरपूर मात्रा में विटामिन ई होता है। तो अगर आप ज्‍यादा बादाम का सेवन विटामिन ई का ओवरडोज कर सकता है। विटामिन ई बालों और त्वचा के लिए अच्‍छा होता है। यह एंटीऑक्सीडेंट्स को सुरक्षा देने का काम करता है। 3 से 4 बादाम में आपको 7।4mg विटामिन ई मिल जाता है। इससे ज्‍यादा लेने पर यह ओवर हो सकता है।

4. हालांकि अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो इसमें बादाम आपका मदद कर सकते हैं। लेकिन नियमित और नियंत्रित मात्रा में। बादाम में काफी कैलोरिज़ और फैट होता है। 3 से 4 बादाम में 168 कैलोरी और 14ग्राम फैट होता है। तो अगर आप मुट्ठीभर बादाम रोज़ाना खाते हैं, तो आप लगभग 500 से ज़्यादा कैलोरी और 40 से 50ग्राम फैट का सेवन करते हैं। जोकि वजन कम करने की डाइट को खराब कर सकता है। इसलिए जरूरी है क‍ि अगर आप वेट लॉस डाइट पर हैं तो बादाम की मात्रा पर ध्‍यान दें।

तो कुल अगर आप एक सामान्‍य जीवनशैली को फॉलो कर रहे हैं और सामान्‍य डाइट पर हैं तो आपको एक दिन में 3-4 बादाम लेने चाहिए। लेकिन इस बात का खास ख्‍याल रखें कि आप आहार में किसी भी तरह का बदलाव अपने डॉक्‍टर की सलाह के बिना न करें।

Related Articles

Back to top button
E-Paper