पश्चिम बंगाल : अमित शाह की मतुआ समुदाय पर नजर, आज नागरिकता पर कर सकते हैं बड़ा ऐलान

कोलकाता बांग्लादेश से उत्पीड़न के बाद भारत आकर बसे शरणार्थी समुदाय “मतुआ” लोगों को आसन्न विधानसभा चुनाव से पहले स्थाई नागरिकता संबंधी सौगात देने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह गुरुवार को बंगाल आ रहे हैं।

अमित शाह

प्रदेश भाजपा की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि शाह यहां कूचबिहार में एक परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे, जिसके बाद मतुआ समुदाय के लोगों के बीच उनकी जनसभा होनी है। खबर है कि केंद्रीय गृहमंत्री यहां के लोगों की बहुप्रतीक्षित स्थाई नागरिकता संबंधी मांग के बारे में महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते हैं।

इससे पहले 30 जनवरी को ही वे यहां के ठाकुरनगर इलाके में जनसभा करने वाले थे जिसके लिए मंच बनकर तैयार हुआ था। लेकिन दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर ब्लास्ट की घटना के कारण उन्होंने दौरा रद्द कर दिया था। हालांकि दूसरे दिन हावड़ा जिले की जनसभा को उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया था। इसकी वजह से सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस लगातार भाजपा पर हमला कर रही है। राज्यसभा में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय की ओर से नागरिकता अधिनियम को लागू करने की अवधि बढ़ाकर जुलाई महीने तक किए जाने संबंधी जवाब का हवाला देकर सवाल पूछती रही है।

Read Also : मौनी अमावस्या के मौके पर प्रियंका गांधी जाएंगी प्रयागराज, संगम में लगाएंगी डुबकी

तृणमूल का कहना है कि भाजपा नागरिकता अधिनियम कभी लागू करने वाली नहीं है। इसके जरिए मतुआ समुदाय के लोगों को केवल बरगलाया जा रहा है। इसके बाद से पार्टी बैकफुट पर है और लगातार सफाई देनी पड़ रही है।

माना जा रहा है कि गुरुवार को अपने दौरे में गृहमंत्री इसे लेकर आधिकारिक घोषणा कर सकते हैं। भाजपा की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि गुरुवार सुबह सबसे पहले वे आधे घंटे तक अनंता महाराज से मुलाकात करेंगे। उसके बाद कूचबिहार एयरपोर्ट से मदन मोहन मंदिर पहुंचेंगे। यहां से वह रासमेला ग्राउंड में परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। इसके बाद केंद्रीय गृहमंत्री कोलकाता से सटे उत्तर 24 परगना के ठाकुरबाड़ी मैदान में आएंगे जो मतुआ बहुल क्षेत्र है। यहां इस समुदाय के लोगों की एक बड़ी जनसभा को संबोधित करेंगे, जहां स्थाई नागरिकता संबंधी घोषणा कर सकते हैं।

मतुआ समुदाय राज्य की 60 से 65 विधानसभा सीटों पर निर्णायक भूमिका निभाता है इसलिए इसे नाराज करने का जोखिम भाजपा नहीं उठाना चाहती है। 2019 के लोकसभा चुनाव में यहां से भाजपा सांसद शांतनु ठाकुर की जीत हुई है जिसके कारण विधानसभा चुनाव में भी इसे संभालकर रखने के लिए भाजपा हरसंभव कोशिश कर रही है।

अपने कोलकाता दौरे में अमित शाह साइंस सिटी ऑडिटोरियम में भाजपा आईटी सेल और सोशल मीडिया वॉलिंटियर्स से भी मुलाकात करेंगे। जिसमें विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार-प्रसार के गुर सिखाएंगे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper