क्यों अमेठी में शपथ नहीं ले पायेंगे 119 निर्वाचित ग्राम प्रधान, जानिए वजह

उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत के गठन के लिए शासनादेश जारी हो चुका है। लेकिन अमेठी जिले की 119 ग्राम पंचायतों में निर्वाचित प्रधान तय समय पर शपथ नहीं ले पाएंगे। इसकी वजह इन ग्राम पंचायतों में दो-तिहाई पंचायत/वार्ड सदस्यों का निर्वाचित ना हो पाना है। अमेठी विकास खंड में 38 ग्राम प्रधान ही 25 मई को शपथ लेंगे, जबकि 12 नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को इंतजार करना पड़ेगा। इसी तरह मुसाफिर खाना में 13 ग्राम प्रधान, जबकि जगदीशपुर विकास खंड की एक तिहाई ग्राम पंचायतों के निर्वाचित प्रधान शपथ नहीं ले पाएंगे।

पंचायती राज अधिनियम के मुताबिक, ग्राम पंचायत के गठन के लिए प्रधान और दो-तिहाई सदस्यों का निर्वाचित होना अनिवार्य है। इसी उल्लेख करते हुए शासनादेश में कहा गया है कि जहां भी प्रधान और दो-तिहाई सदस्य निर्वाचित हो गए हैं, वहां पर ग्राम सभा के गठन के लिए 24 मई तक अधिसूचना जारी हो जानी चाहिए। इसके बाद सक्षम अधिकारियों के सामने ग्राम पंचायत के सभी निर्वाचित प्रतिनिधि शपथ लेंगे। शासनादेश में इसके लिए 25 और 26 मई का समय तय किया गया है।

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए इस बार शपथग्रहण के तौरतरीके में बदलाव किया गया है। शासनादेश के मुताबिक, इस बार ग्राम प्रधानों और सदस्यों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या वर्चुअल माध्यम से शपथ दिलाई जाएगी। शासनादेश के मुताबिक, शपथ ग्रहण के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। इसके लिए पंचायत घर, सामुदायिक भवन, ग्राम पंचायत क्षेत्र में बने कॉमन सर्विस सेंटर जरूरी इंतजाम किए जाएंगे। इसकी जिम्मेदारी ग्राम सचिव को सौंपी गई है। उन्हें लैपटॉप और इंटरनेट का इंताजाम करना होगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper