अभी नहीं छुटने वाला है करोना से पीछा, वैक्सीन के लिए 2022 तक करना होगा इंतजार

देशभर में लोगों को अब बस कोरोना वैक्सीन का इंतजार है। लेकिन वैक्सीन को लेकर इस बीच एक चौका देने वाली खबर सामने आई है। जहां कोरोना वैक्सीन के लिए 2022 तक इंतजार करना होगा। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि आम लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए वर्ष 2022 तक इंतजार करना होगा। बता दें कि डॉ रणदीप गुलेरिया देश में कोरोना वायरस प्रबंधन के लिए बनाई गई राष्ट्रीय टास्क फोर्स के सदस्य भी हैं।

एक इंटरव्यू में रणदीप गुलेरिया ने कहा, “कोरोनोवायरस वैक्सीन के एक शॉट के लिए आम लोगों को 2022 तक इंतजार करना होगा।” एम्स निदेशक ने कहा कि भारतीय बाजारों में आसानी से उपलब्ध होने वाले कोरोना वैक्सीन के लिए एक साल से ज्यादा का समय लगेगा। उन्होंने कहा, “आम लोगों के लिए एक साल से ज्यादा समय लगेगा।”

डॉ गुलेरिया ने कहा, “हमारे देश में जनसंख्या बड़ी है। हमें यह देखने के लिए समय की जरूरत है कि कैसे बाजार से फ्लू वैक्सीन की तरह वैक्सीन खरीदा जा सकता है और इसे बाजार में कैसे पहुंचाया जाए। यह वास्तव में एक आदर्श स्थिति होगी।”

कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होने के बाद भारत के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर, एम्स निदेशक ने कहा कि सबसे ज्यादा ध्यान वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन पर देना होगा, ताकि यह देश के हर हिस्से तक पहुंच सके। उन्होंने कहा, “कोल्ड चेन को बनाए रखना, पर्याप्त सीरिंज, पर्याप्त सुइयां होना और देश के सुदूर हिस्सों तक इसकी पहुंच को आसान बनाना, यह ही सबसे बड़ी चुनौती है।” इसके अलावा रणदीप गुलेरिया ने यह भी कहा कि टीकाकरण से कोरोनोवायरस संक्रमण “खत्म नहीं होगा।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper