योगी सरकार की नई पहल, एक क्लिक में मरीज घर बैठे देख सकेगा अपनी कोरोना रिपोर्ट

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को जांच से संबंधित एक नई सुविधा की शुरूआत करेंगे। इसमें लोगों को कोरोना जांच का नतीजा वेबसाइट के जरिए ही पता चल जाएगा और उन्हें पहले की तरह इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

योगी

राज्य के अपर मुख्य सचिव सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक कोरोना जांच के दौरान कई बार प्रयोगशालाओं से जानकारी मिलने में देरी हो जाती है। तब तक जांच कराने वाले व्यक्ति को इंतजार करना पड़ता है। अब राज्य के स्वास्थ्य विभाग और डायरेक्टर जनरल हेल्थ की वेबसाइट पर लैब रिजल्ट का एक लिंक उपलब्ध रहेगा। प्रयोगशाला से पोर्टल पर कोरोना जांच के नतीजे अपलोड होते ही मरीज इसके जरिए अपनी रिपोर्ट देख सकेंगे।

इसमें लिंक पर क्लिक करने पर सम्बन्धित मरीज को अपना मोबाइल फोन नम्बर उस पर डालना होगा। इसके बाद फोन नम्बर में एक ओटीपी आएगा। उस ओटीपी को वेबसाइट पर डालने के बाद उसमें मरीज की कोरोना जांच का रिजल्ट दिखाई देने लगेगा। मरीज चाहे तो अपनी रिपोर्ट वहीं से डाउनलोड भी कर सकेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा रविवार को इस सुविधा का शुभारम्भ करने के साथ ही यह सबे के लिए उपलब्ध हो जाएगा।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि योगी सरकार का कोविड पोर्टल बेहद अनूठा है और इसमें मरीज की विस्तृत जानकारी होती है। एक बार कोई व्यक्ति जब सर्विलांस के सम्पर्क में आने पर अपनी कोरोना जांच कराता है, तभी से उसकी पूरी जानकारी हमारे पास दर्ज हो जाती है। सम्बन्धित व्यक्ति की एक केस आईडी बनती है और फिर उसी से आगे के सारे काम होते हैं।

Also Read : रविवार को DC से होगी KXIP की भिडंत, दोनों टीमों के पास विस्‍फोटक बल्‍लेबाजों की भरमार

केस आईडी से व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव या निगेटिव होने का पता चलता है। पॉजिटिव आने पर इसी आईडी से वह भर्ती होता है और उसकी दवा और डिस्चार्ज के दौरान भी इसी आईडी का इस्तेमाल किया जाता है। उत्तर प्रदेश सरकार की इस खास व्यवस्था को केन्द्र सरकार ने भी सराहा है। इसीलिए केवल कुछ राज्यों के साथ उत्तर प्रदेश को ही विशेष अनुमति है कि वह कोरोना को लेकर अपना डाटा पोर्टल पर अपलोड कर सके और यहीं से उसे भारत सरकार के पोर्टल पर भेज दिया जाता है।

केन्द्र सरकार के स्तर पर शनिवार को कैबिनेट सेक्रेटरी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी उन्होंने उत्तर प्रदेश में कोरोना जांच बढ़ाने की तारीफ की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने बड़ा काम करके दिखाया है।

उल्लेखनीय है कि राज्य में प्रतिदिन लगभग डेढ़ लाख कोरोना नमूनों की जांच की जा रही है। अब इसे प्रतिदिन दो लाख कोरोना जांच करने का लक्ष्य निर्धारित करते हुए इस पर काम किया जा रहा है। प्रदेश में अब तक कुल 83.99 लाख कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है। प्रदेश सरकार के मुताबिक 30 सितम्बर के पहले तक यूपी एक करोड़ जांच करने का वाला राज्य होगा जाएगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper