लखीमपुर हिंसा : गुरविंदर के परिजनों की मांग, दोबारा से हो शव का पोस्टमार्टम

लखीमपुर खीरी। जनपद में रविवार दोपहर को किसानों के प्रदर्शन के दौरान जिस तरह हिंसा भड़की, इसमें आठ लोगों की जान चली गई है। मरने वालों में चार किसान,तीन भाजपा कार्यकर्ता और एक पत्रकार शामिल है। जबकि एक पत्रकार समेत आठ लोग घायल हैं। मृतकों में गुरविंदर के परिजनों ने दोबारा से शव का पोस्टमार्ट कराये जाने की मांग की है।

जनपद में हुई हिंसा के बाद जो किसान मारे गए है, उनकी पहचान बहराइच जनपद के दलजीत सिंह (32), गुरुविंदर सिंह (20), खीरी निवासी लवप्रीत सिंह (24), नछतर सिंह (60) है। ये सभी किसान है। इसके अलावा खीरी निवासी हरिओम मिश्रा, जो आशीष मिश्रा का ड्राइवर है। साथ ही सिंगाही निवासी श्याम सुंदर, शिवपुरी निवासी शुभम मिश्रा, निघासन क्षेत्र में रहने वाला पत्रकार रमन कश्यप है।

घायलों के नाम

इस हिंसा में आठ लोगों की मौत हुई है तो वहीं आठ लोग घायल है। घायलों में बहराइच निवासी गुरुनाम सिंह, मेजर सिंह, बहराइच निवासी को साहब सिंह, मांझा फार्म निवासी संदीप सिंह, चौखड़ा फार्म प्रभजीत, बैरिया फार्म निवासी शमशेर सिंह, किसान संगठन से तजिंदर सिंह और एक पत्रकार सुरजीत चाहनी है।

दोबारा से कराया जाये पोस्टमार्टम

डॉक्टरों की दो टीमों ने पैनल से सभी के शवों का पोस्टमार्टम हुआ था। मृतक गुरुविंदर सिंह के सिर पर धारदार हथियार से मारने के निशान पाये गए थे। परिजनों ने यह आरोप लगाया है कि वह पोस्टमार्टम से संतुष्ट नहीं है। उनकी मांग है कि दोबारा से शव का पोस्टमार्टम कराया जाये। इसको लेकर जिला प्रशासन, पुलिस और परिवार से बातचीत चल रही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper