अगर आप म्‍युचुअल फंड के यूनिट भुनाना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया आप किसी भी कारोबारी दिन शुरू कर सकते हैं.

 बैंकों के फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट की तुलना में बेहतर रिटर्न देते हैं बल्कि ये निवेशकों के पसंदीदा इसलिए भी हैं क्‍योंकि इससे पैसे निकालना काफी आसान है. अगर आप म्‍युचुअल फंडों में निवेश करते हैं और पैसे निकालने के तरीके को लेकर चिंतित हैं तो आज हम आपको बताएंगे कि म्‍युचुअल फंड के यूनिटों को भुनाकर आप अपने पैसे कैसे झटपट निकाल सकते हैं. तरीका काफी आसान है, मुश्किल नहीं.अगर आप म्‍युचुअल फंड के यूनिट भुनाना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया आप किसी भी कारोबारी दिन शुरू कर सकते हैं.

अगर आप म्‍युचुअल फंड के यूनिट भुनाना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया आप किसी भी कारोबारी दिन शुरू कर सकते हैं. अगर आप खुद जाकर यह काम करना चाहते हैं तो आपको म्‍युचुअल फंड कंपनी की वेबसाइट से पहले ट्रांजैक्‍शन स्लिप डाउनलोड करना होगा। उसे अच्‍छी तरह भर लीजिए. इस रिडेंप्‍शन अप्लिकेशन को आप म्‍युचुअल फंड कंपनी के आधिकारिक कार्यालय में जमा करवा सकते हैं. आप चाहें तो म्‍युचुअल फंड कंपनियों की ऑनलाइन सुविधा का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं. कई म्‍युचुअल फंड कंपनियां अपनी वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन रिडेंप्‍शन (म्‍युचुअल फंड यूनिट भुनाने) की सुविधा उपलब्‍ध कराती हैं. अगर आपने ऑनलाइन पोर्टल के जरिए निवेश किया है तो आप ऑनलाइन फैसिलिटी का इस्‍तेमाल करते हुए अपने यूनिट भी भुना सकते हैं.

अगर आपने लिक्विड या डेट ओरिएंटेड म्‍युचुअल फंडों में निवेश किया हुआ है तो आपको एक से दो दिनों में पैसे मिल जाएंगे. इक्विटी फंडों का पैसा 4-5 दिनों में निवेशकों के पास आ जाता है. हां, गौर करने वाली बात यह है कि अगर आपने इक्विटी फंडों में निवेश किया हुआ है और यूनिट खरीदने के 365 दिनों के भीतर उसे भुना रहे हैं तो आपको एक फीसदी का एक्जिट लोड देना पर सकता है. लिक्विड फंड, अल्‍ट्रा शॉर्ट टर्म फंड्स आदि पर कोई एक्जिट लोड नहीं लगता है.म्‍युचुअल फंड का यूनिट भुनाने से प्राप्‍त होने वाले पैसे सीधे आपके बैंक खाते में हैं अगर आपने निवेश के समय बैंक की सारी डिटेल दी हुई है. अगर म्‍युचुअल फंड कंपनी के पास आपकी बैंक की पूरी डिटेल नहीं है तो फिर आपको चेक से पैसे भेज दिए जाएंगे.

Related Articles

Back to top button
E-Paper