एक दशक बाद पहली बार होगा जब राष्ट्रपति भवन में नहीं दी जाएगी इफ्तार पार्टी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इस साल राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी की मेजबानी नहीं करेंगे। यह जानकारी राष्ट्रपति भवन की ओर से दी गई है। राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने बताया कि पदभार ग्रहण करने के बाद राष्ट्रपति ने फैसला लिया था कि करदाताओं के पैसे से राष्ट्रपति भवन में कोई भी धार्मिक आयोजन नहीं होगा।

 यह नियम दीपावली, होली, गुरुपर्व और क्रिसमस पर भी लागू है। राष्ट्रपति भवन पूरे देश के लिए धर्मनिरपेक्ष भाव रखता है, इसी को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति हर बड़े धार्मिक त्योहार पर देशवासियों को अपनी शुभकामना देते हैं। करीब एक दशक के अंतराल के बाद राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं होगा। 

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी हर साल इफ्तार पार्टी का आयोजन करते थे जबकि उनके पूर्ववर्ती एपीजे अब्दुल कलाम के कार्यकाल के दौरान ऐसा नहीं हुआ। कलाम 2002 से 2007 तक राष्ट्रपति रहे थे। 

Related Articles

Back to top button
E-Paper