जितना अधिक समर्थन उतनी अधिक जिम्मेदारी : राम नाईक

लखनऊ। राज्यपाल राम नाईक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी, उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा व केशव मौर्या योगी तथा मंत्रि परिषद के सदस्यों से भेंट कर के परिचय प्राप्त किया।

राज्यपाल ने प्रदेश सरकार की पूरी कैबिनेट को सोमवार की शाम राजभवन में जलपान पर आमंत्रित किया था। राज्यपाल ने इस अवसर पर उन्हें शाल व अपनी पुस्तक ‘रैवेति! चरैवेति!!’ की प्रति देकर सम्मानित भी किया।

राज्यपाल ने उपस्थित अतिथियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि जनता के जनादेश से प्रदेश में नयी सरकार का गठन हुआ है। जितना अधिक समर्थन, अधिक शक्ति, उतनी ही जिम्मेदारी भी अधिक होती है। कोशिश करें कि जनता की अपेक्षाओं पर खरें उतरें। जनता के प्रति अपनी जवाबदेही तय करें।

समय पर कार्य निस्तारित करें तथा कल के कार्य की तैयार पूर्व में ही कर लें। आम जनता से निरन्तर संवाद बनाये रखें। सामाजिक जीवन में अपने व्यवहार में शुचिता लायें। मंत्रिपद की शपथ का स्मरण रखते हुये अपने व्यवहार एवं कार्य में पारदर्शिता बनाये रखें। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का सबका सपना पूरा करने के लिये नयी सरकार प्रयास करे।

नाईक ने इस अवसर पर अपने राजनैतिक जीवन के संस्मरण तथा राज्यपाल पद के अपने अनुभव भी साझा किये। राज्यपाल ने कहा कि अपने संवैधानिक दायित्वों के निर्वहन की दृष्टि से उन्होंने प्रदेश में राज्य विधान सभा के नाम निर्देशन, लोकायुक्त की नियुक्ति, लोकायुक्त के विशेष प्रतिवेदनों पर राज्य सरकार से स्पष्टीकरण ज्ञापन, विधायकों की सदस्यता समाप्ति का आदेश, अध्यादेश एवं विधेयकों पर की गयी कार्यवाही, अवैध कब्जों के संबंध में श्वेत पत्र जारी करने के निमत्ति संविधान के अनुरूप कार्यवाही की। उन्होंने कहा कि पद की गरिमा को बनाये रखना आवश्यक है।

मुख्यमंत्री आदत्यि नाथ योगी ने राज्यपाल की कार्य प्रणाली का समर्थन करते हुये कहा कि नाईक के लम्बे राजनीतिक एवं सामाजिक जीवन से बहुत कुछ सीखने की प्रेरणा मिलती है। मुख्यमंत्री ने प्रशंसा करते हुये कहा कि संसद में राष्ट्रगान एवं राष्ट्रगीत के गायन की शुरूआत नाईक के प्रयास से शुरू हुई। इसी प्रकार विकास के निमत्ति सांसद निधि की स्थापना तथा उसका उपयोग कैसे हो, में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका का उल्लेख किया। प्रदेश सरकार सुशासन और जनता की अपेक्षा पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगी। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास होगा कि सबका साथ सबका विकास हो।

Related Articles

Back to top button
E-Paper