पनीरसेल्वम ने केंद्र को भेजा अध्यादेश, कहा- अगले दो दिनों में होगा जल्लीकट्टू

सांड़ों पर काबू पाने के खेल जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ तमिलनाडु में आंदोलन और तेज हो गया है। चेन्नई के मरीना बीच पर लाखों लोग विरोध-प्रदर्शन को जुटे हैं। एआर रहमान, श्री श्री, जग्गी वासुदेव समेत कई शख्सियत इस आंदोलन को समर्थन दे चुकी है। राज्य में आज बंद का ऐलान किया गया है। जल्लीकट्टू पर पढ़िए हर ताजा अपडेट्स- 
 
paneerselvam_1484886726
 
 
– तमिलनाडु मुख्यमंत्री ओ पनीरलेल्वम ने जल्लीकट्टू पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध कर रहे लोगों से कहा है कि जल्लीकट्टू का आयोजन अगले दो दिनों में होगा। साथ ही उन्होंने प्रदर्शनकारियों से विरोध प्रदर्शन वापस लेने की भी अपील की।

– ऑस्कर विजेता संगीत निर्देशक ए आर रहमान ने भी प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता दिखाते हुए ऐलान किया कि वह आज एक दिन का उपवास रखेंगे। रहमान ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं तमिलनाडु के लोगों की भावना के समर्थन में कल उपवास रख रहा हूं।’ 

 
– जल्लीकट्टू से प्रतिबंध हटाने के लिए तमिलनाडु में हो रहा प्रदर्शन अब श्रीलंका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया तक पहुंच गया है। इन देशों में तमिल प्रवासियों ने प्रदर्शन कर जल्लीकट्टू की इजाजत देने की मांग की है।

– मंगलवार और बुधवार को लंदन में भारतीय उच्चायोग के साथ ही इंग्लैंड के लीड्स और आयरलैंड के डब्लिन में तमिल प्रवासियों ने प्रदर्शन किया। 

– श्रीलंका के जाफना के साथ ही आस्ट्रेलिया के मेलबर्न और सिडनी में भी प्रदर्शन किया गया, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। जहां तक तमिलनाडु की बात है तो यहां पिछले कई दिनों से प्रदर्शन हो रहा है। 

– जल्लीकट्टू के आयोजन का समर्थन करते हुए बृहस्पतिवार को वीएचपी ने कहा कि न्यायालय को हिंदुओं प्राचीन विश्वासों में दखल नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो बैलों को लेकर भावनात्मक हैं उन्हें गौ-हत्या पर पाबंदी लगाने की भी मांग करनी चाहिए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper